यूपी चुनाव: शाह ने मेरठ में स्‍थगित की पदयात्रा, अखिलेश और राहुल पर बरसे

नई दिल्ली : भाजपा के वोटों को समेकित करने के उद्देश्य से पार्टी अध्यक्ष अमित शाह ने शुक्रवार को मेरठ में अपनी पदयात्रा एक व्‍यापारी की हत्‍या के विरोध में स्‍थगित कर दिया। हालांकि, अमित श्‍ााह ने मेरठ में जनसंपर्क अभियान किया और इस दौरान अखिलेश यादव और राहुल गांधी पर जमकर निशाना साधा। शाह ने कहा कि राहुल और अखिलेश लोगों को मूर्ख बना रहे हैं।शाह ने मेरठ में स्‍थगित की पदयात्रा

जानकारी के अनुसार, अमित शाह ने मेरठ में आयोजित पदयात्रा बीच में ही रोक दी। दरअसल मेरठ में गुरुवार को एक कारोबारी की हत्या कर दी गई थी। इस घटना के विरोध में अमित शाह ने राज्य की समाजवादी सरकार पर निशाना साधा और घटना पर शोक जताते हुए यात्रा बीच में रोकने का ऐलान किया।

अमित शाह ने कहा कि अखिलेश और राहुल मिलकर यूपी को धोखा दे रहे हैं। लोगों का ध्‍यान भटकाने के लिए सपा और कांग्रेस का गठबंधन हुआ है। उन्‍होंने कहा कि एक बेटे ने देश को लूटा और दूसरे ने प्रदेश को। यूपी में भू माफियाओं ने जमीनों पर कब्‍जे किए हैं। यूपी में सपा, बसपा ने विकास नहीं किया। अखिलेश सरकार में कानून व्‍यवस्‍था बहुत खराब हो गई। अमित शाह ने प्रदेश की कानून व्यवस्था पर सवाल उठाए। उन्‍होंने कहा कि दोनों शहजादे (अखिलेश यादव और राहुल गांधी) आज प्रेस कॉन्फ्रेंस करने वाले हैं। इसमें वो दोनों अभिषेक की हत्या पर जवाब दें। अगर ये इस हत्या का जवाब नहीं देते हैं तो यूपी की जनता इन्हें सबक सिखाए। शाह ने कहा कि उत्तर प्रदेश में कानून व्यवस्था सबसे बड़ी समस्या है। यूपी में हर दिन हत्या, बलात्कार की घटनाएं होती रहती हैं। प्रदेश में अपराध का ग्राफ बहुत बढ़ गया है।

बीजेपी अध्‍यक्ष ने कहा कि बीजेपी विकास के एजेंडे पर चुनाव लड़ रही है। यूपी को हम देश का नंबर एक राज्‍य बनाना चाहते हैं। यूपी में भी पूर्ण विकास करना चाहती है बीजेपी। हम यूपी को देश का नंबर एक राज्य बनाना चाहते हैं। ये काम सिर्फ प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ही कर सकते हैं। अमित शाह ने कारोबारी की हत्या के विरोध में अपनी पदयात्रा स्‍थगित कर दी। इसके बाद वे मृतक कारोबारी अभिषेक के परिवार से मिलने उनके घर भी गए।

बता दें कि शनिवार को इस क्षेत्र में प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी की रैली होगी। उत्तर प्रदेश विधानसभा चुनाव के पहले चरण में 11 फरवरी को मतदान होगा। भाजपा साम्प्रदायिक रूप से संवेदनशील पश्चिमी उत्तर प्रदेश और आसपास के स्थानों में अच्छे प्रदर्शन की उम्मीद जता रही है। क्षेत्र की 140 विधानसभा सीटों के लिए मतदान 11 और 15 फरवरी को होगा।

भाजपा इस क्षेत्र को एक मजबूत गढ़ के तौर पर देख रही है। भाजपा उत्तर प्रदेश में त्रिकोणीय मुकाबले में शामिल है जिसमें सपा-कांग्रेस गठबंधन और बसपा शामिल हैं। भाजपा का कहना है कि उसका मुख्य प्रतिद्वंद्वी सपा-कांग्रेस गठबंधन है, बसपा इस क्षेत्र में पारंपरिक रूप से मजबूत रही है जहां मुस्लिमों की अच्छी संख्या है। उत्तर प्रदेश में सात चरणों में विधानसभा चुनाव होना है। मतदान 11, 15, 19, 23, 27 फरवरी और चार एवं आठ मार्च को होगा। मतगणना 11 मार्च को होगी।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *