वेलास टर्टल छुट्टि‍यों में घूमने के लिए है बेहतर ऑप्शन

 यदि आप कहीं घूमने की प्लानिंग कर रहे हैं तो आपके पास एक विकल्प है टर्टल फेस्टिवल देखने का. ये उन लोगों के लिए खास है जिन्हें नेचर से प्यार है, जो जीवों को चाहते हैं और समुद्री तट पर घूमना पसंद करते हैं. चलिए जानते हैं इस टर्टल फेस्टिवल की खासियत के बारे में और क्यों आपको वहां जाना चाहिए.

वेलास टर्टल फेस्टिवल-
टर्टल यानि कछुआ जैस की नाम से ही पता चल रहा है ये कछुओं पर आधारित फेस्टिवल है जो पिछले एक दशक से भी अधिक समय से आयोजित हो रहा है. ये फेस्टिवल वेलास में आयोजित होता है जो कि महाराष्ट्र के पश्चिमी तट पर रत्नागिरी जिले में मौजूद है. वेलास मुंबई से 220 किलोमीटर दूर है. अरेबियन सी के किनारे यहं तकरीबन 100 घर हैं. एक बार फिर से समय आ गया है जब कछुए अंडों से बाहर निकलकर रेत पर चलते हैं. सैकड़ों ओलिव रिडले प्रजाति के कछुओं को समुद्र में छोड़ा जाता है. इस खूबसूरत नजारे को देखने के लिए सैकड़ों की संख्या़ में लोग यहां हर साल मौजूद होते हैं. ये फेस्टिवल 16 मार्च से 6 अप्रैल तक चलता है| 

क्या है प्रक्रिया-
कछुए की प्रजाति ओलिव रिडले की संख्या में इजाफा करने के लिए एक दशक पहले वेलास गांव के लोगों ने जीवों की रक्षा करने वाली एनजीओ सह्याद्री निसरग मित्र और कासव मित्र मंडल के साथ मिलकर एक मुहिम शुरू की. जिसके तहत मादा कछुए जब अंडे देती है तो उनके अंडों की देखरेख की जिम्मेदारी यहां के लोगों ने ली. ताकि कछुए विलुप्त ना हो. इसी देखरेख के तहत जब अंडे से निकलकर कछुए जमीन और पानी में सरवाइव करने लायक हो जाते हैं तो यहां के लोग उन्हें एक साथ समुद्र में छोड़ देते हैं. समुद्र में जाने के बाद इन लोगों की कोई जिम्मेदारी नहीं होती. इस फेस्टिवल में कछुओं को समुद्र में छोड़ने की पूरी प्रक्रिया दिखाई जाती है.

ये जगहें भी हैं घूमने के लिए-
टर्टल फेस्टिवल के अलावा यहां बहुत से खूबसूरत बीच हैं. यहां बैंकोट फोर्ट, हरिहरेश्वर टेंपल है. हालांकि टर्टल फेस्टिवल शुरू होने से पहले वेलास में टूरिस्ट यहां की खूबसूरती की तरफ आकर्षित होते थे.

टर्टल फेस्टिवल में जाने से पहले ध्यान रखें इन बातों का-

यहां आप कछुए के बच्चों की तस्वीरें आसानी से खींच सकते हैं.

वेलास बीच में टर्टल देखने का समय जनवरी से अप्रैल के बीच ही होता है. लेकिन इस फेस्टिवल में आप रोजाना टर्टल देख सकते हैं

बेबी टर्टल को सुबह 7 से 7:30 और शाम को 6 से 6:30 बजे समुद्र में छोड़ा जाता है.

टर्टल छोडने के दौरान टूरिस्ट्स के लिए बैरिकेडिंग होती है. आप एक्साइटमेंट में उसे पार ना करें. आपके एक्साइटमेंट में बेबी टर्टल को चोट लग सकती है और उनकी मौत तक हो सकती है.

वेलास बीच सबसे खतरनाक बीच में से एक माना जाता है. हर साल यहां तकरीबन 5 लोगों की डेथ होती है. ऐसे में आप यहां स्वीमिंग के लिए बिल्कुल ना जाएं.

ये ध्यान रखें वेलास एक गांव है तो यहां आपको लग्जरी चीजें नहीं मिलेगी. नेचर को आप आराम से एन्जॉय की सकते हैं

 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button