शशिकला के शपथ पर सस्पेंस, सबसे बड़ा रोड़ा बना पीआईएल

दिल्‍ली। तमिलनाडु के गवर्नर विद्यासागर राव की वजह से वीके शशिकला नटराजन की मंगलवार को होने वाली ताजपोशी पर आशंकाओं के बादल मंडरा रहे हैं। दरअसल, विद्यासागर राव मंगलवार को दिल्‍ली में हैं और उनके वापस जाने को लेकर अभी तक अटकलों का बाजार गरम है। हालांकि उनकी वापसी का मंगलवार को कोई तय कार्यक्रम नहीं है। यही वजह है कि शशिकला की ताजपोशी का कार्यक्रम मजबूरन टाला जा सकता है। वहीं एआईएडीएमके ने अपने सभी सांसदों को शपथग्रहण समारोह में शामिल होने का आदेश दिया है। हालांकि पार्टी से निलंबित सांसद शशिकला को इस शपथग्रहण समारोह में शामिल होने का न्‍योता नहीं भेजा गया है।वीके शशिकला नटराजन

कोर्ट में निलंबित याचिका

इसके अलावा शशिकला की ताजपोशी के खिलाफ एक पीआईएल भी सुप्रीम कोर्ट में निलंबित है, जिसपर कोर्ट अपना फैसला सुना सकता है। इस बीच पूर्व सीएम जयललिता और शशिकला के खिलाफ दायर आय से अधिक की संपत्ति मामले में सुप्रीम कोर्ट अगले सप्‍ताह फैसला सुना सकता है। इस मामले में शशिकला सह-आरोपी हैं।

गवर्नर के लौटने पर ही ताजपोशी संभ

एआईएडीएमके के नेताओं का यही मानना है कि यदि गवर्नर विद्यासागर राव समय पर तमिलनाडु वापस आ जाते हैं तो वीके शशिकला नटराजन का शपथग्रहण समारोह होगा अन्‍यथा उनके पास इसको टालने के अलावा कोई और चारा नहीं होगा। गौरतलब है कि सोमवार को गवर्नर ने पन्‍नीरसेलवम का सीएम पद से इस्‍तीफा मंजूर करने के बाद उन्‍हें अगला सीएम नियुक्‍त होने तक पद पर बने रहने को कहा था। शशिकला का यदि आज शपथ नहीं होता है तो फिर यह गुरुवार को होगा।

पीएम और गृहमंत्री से मिलेंगे स्‍टालिन

इस बीच आज डीएमके नेता स्‍टालिन शशिकला को राज्‍य का सीएम बनाए जाने के मुद्दे पर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और केंद्रीय गृहमंत्री राजनाथ सिंह से मिलेंगे। शशिकला के राज्‍य के सीएम बनने का कई नेता विरोध कर रहे हैं। कांग्रेस के मल्लिकार्जुन खड़गे भी इस पर अपनी नाराजगी जाहिर कर चुके हैं। हालांकि एआईएडीएमके उनके इस विरोध को पूरी तरह से खारिज कर चुकी हैं। पार्टी का कहना है कि यह उनका अंदरुणी मामला है लिहाजा किसी अन्‍य नेता को इसमें दखलदांजी नहीं देनी चाहिए।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button