वर्ल्ड कप में टीम इंडिया के नंबर चार की बहस में कूदे चेतन चौहान, इस प्लेयर को बताया परफेक्ट

इंग्लैंड में शुरू होने जा रहे विश्व कप के लिए 15 सदस्यीय टीम इंडिया की घोषणा हो चुकी है, लेकिन अभी तक टीम में नंबर चार के खिलाड़ी पर बहस खत्म होने का नाम नहीं ले रही है. अब पूर्व भारतीय अंतरराष्‍ट्रीय क्रिकेट खिलाड़ी चेतन चौहान इस बारे में एक नया नाम सुझाया है. चेतन का मानना है कि इंग्‍लैंड में इस माह शुरू होने जा रहे विश्‍व कप टूर्नामेंट में चौथे नम्‍बर पर बल्‍लेबाज का चयन अब भी एक सिरदर्द है. उनके मुताबिक इस पायदान पर बल्‍लेबाजी के लिए अजिंक्‍य रहाणे सबसे उपयुक्‍त होते.

Loading...

उत्तर प्रदेश के खेल मंत्री हैं चौहान

उत्‍तर प्रदेश के खेल मंत्री चौहान ने रविवार को में कहा, ‘‘टीम में चौथे नम्‍बर के बल्‍लेबाज के चयन की समस्‍या अब भी बनी हुई है. यहीं पर टीम की कुछ कमजोरी है. यहां पर एक मजबूत खिलाड़ी होना चाहिये था. निजी तौर पर मैं समझता हूं कि इस स्‍थान पर बल्‍लेबाजी के लिए अजिंक्‍य रहाणे सबसे सही खिलाड़ी होते. रहाणे का इंग्‍लैंड में अच्‍छा प्रदर्शन रहा है मगर वह टीम में शामिल ही नहीं किए गए.’’ 

धोनी भी बुरे नहीं हैं इस क्रम के लिए 
इस क्रम पर बहत तब तेज हुई जब पिछले एक साल से इसके लिए अंबाती रायडू को आजमाया जा रहा था, लेकिन उन्हें टीम में शामिल नहीं किया गया. चेतन ने यह भी कहा कि अच्‍छी बात है कि टीम के पास विकल्‍प भी मौजूद हैं. चौथा क्रम बेहद महत्‍वपूर्ण है, लिहाजा इस पर महेन्‍द्र सिंह धोनी को प्रोन्‍नत किया जा सकता है. धोनी किसी भी क्रम पर बल्‍लेबाजी करने की कूवत रखते हैं. उन्‍हें मेन लाइन बल्‍लेबाज के तौर पर इस्‍तेमाल किया जाना चाहिए.

ये दो नाम भी सुझाए इस क्रम के लिए
भारत की तरफ से 40 टेस्‍ट और सात एकदिवसीय अंतरराष्‍ट्रीय मैच खेल चुके चौहान ने कहा, ‘‘चौथे नम्‍बर पर बल्‍लेबाजी के लिए लोकेश राहुल और विजय शंकर भी अच्‍छे विकल्‍प हैं. सबसे अच्‍छी बात यह है कि कोई भी विकल्‍प दूसरे से कमजोर नहीं है. यह बहुत बड़ी बात है. यहां तक कि विश्‍व कप में भारत की बेंच स्‍ट्रेंथ भी कम नहीं होगी, क्‍योंकि हर खिलाड़ी अच्‍छा प्रदर्शन कर चुका है.’’ 

कम से कम सेमीफाइनल में जरूर पहुंचेगा भारत
चौहान ने उम्‍मीद जताई कि भारत कम से कम सेमीफाइनल तक जरूर पहुंचेगा. अगर पिछले दो-तीन साल के प्रदर्शन पर नजर डालें तो भारत ने बहुत गौरवशाली पल जिये हैं. कप्‍तान विराट कोहली ने खुद आगे आकर टीम का नेतृत्‍व किया है. इस दौरान भारत ने लगभग हर टीम को हराया है. विदेश में भी श्रंखला जीती हैं. निश्चित रूप से यह आत्‍मविश्‍वास विश्‍वकप के सफर में बहुत काम आयेगा.

आईपीएल से मिलेगी मदद
इस सवाल पर कि क्‍या आईपीएल में खिलाड़ियों का अच्‍छा प्रदर्शन विश्‍व कप टूर्नामेंट में काम आयेगा, पूर्व क्रिकेटर ने कहा ‘‘आईपीएल और वनडे मैच में फर्क है. टी-20 में बल्‍लेबाज और गेंदबाज को तुरंत अच्‍छा प्रदर्शन करना होता है, जबकि वनडे में दोनों को सहज होने का कुछ वक्‍त मिल जाता है. आईपीएल में किया गया प्रदर्शन निश्चित रूप से विश्‍वकप में मददगार साबित होगा. लय सबसे बड़ी चीज होती है, जो किसी भी फार्मेट में अच्‍छे प्रदर्शन की कुंजी होती है.’’ 

चयनकर्ताओं से खुश हैं चेतन
उन्‍होंने कहा कि भारत की गेंदबाजी और बल्‍लेबाजी दोनों ही काफी मजबूत हैं. चयनकर्ताओं ने टेस्‍ट, वनडे और टी-20 के लिए खिलाड़ियों के चयन का जो पैमाना बनाया है, उससे खिलाडि़यों के सामने अपने लक्ष्‍य स्‍पष्‍ट हुए हैं. हर प्रारूप पहले से ज्‍यादा महत्‍वपूर्ण हो गया है. ऐसा होने से खिलाड़ी को अपने लक्ष्‍य पता होते हैं. उन्‍होंने ऑस्‍ट्रेलिया और मेजबान इंग्‍लैंड को भी खिताब का प्रबल दावेदार बताया.

पिच के मिजाज पर यह बोले चेतन
विश्‍व कप टूर्नामेंट के मेजबान देश इंग्‍लैंड और वहां दौरे पर गयी पाकिस्‍तान टीम के बीच जारी वनडे श्रंखला में पहाड़ जैसे स्‍कोर बनने को देखते हुए वहां की पिचों के मिजाज को लेकर हो रही चर्चाओं पर चौहान ने कहा कि वनडे में पिच बल्‍लेबाजों के लिए बनायी जाती हैं. मगर उम्‍मीद है कि विश्‍व कप टूर्नामेंट के दौरान पिचें बल्‍लेबाजों और गेंदबाजों दोनों के लिए मुफीद होंगी. सारी लड़ाई कौशल की होगी.

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com