लोकसभा चुनाव 2019 : तृणमूल कांग्रेस के 48 घंटे के धरने को भाजपा ने बताया ड्रामा

कोलकाता। बीजेपी ने निर्वाचन आयोग से पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव 2019 के सभी मतदान केंद्रों को अति संवेदनशील घोषित करने की अपील थी। इस पर सत्तारूढ़ तृणमूल कांग्रेस ने बीजेपी को राज्य की छवि धूमिल करने की कथित कोशिश के खिलाफ 48 घंटे का अपना धरना शुक्रवार को शुरू किया है। तृणमूल की महिला कार्यकर्ता यहां एस्प्लानेड में धरने पर बैठीं।
केंद्रीय बलों का इस्तेमाल कर लोकसभा चुनाव 2019 जीतने की उम्मीद कर रही है भाजपा
तृणमूल कांग्रेस के इस धरने को भाजपा ने ड्रामा करार दिया है। तृणमूल कांग्रेस की महिला शाखा की प्रमुख चंद्रिमा भट्टाचार्य ने दावा किया कि भाजपा का पश्चिम बंगाल में आधार नहीं है। उसके बाद भी वह केंद्रीय बलों का इस्तेमाल कर लोकसभा चुनाव 2019 जीतने की उम्मीद कर रही है। उन्होंने कहा कि भाजपा और उसके नेता सपनों की दुनिया में खोए हुए हैं।
ये भी पढ़ें :-शत्रुघ्न सिन्हा बोले-मोहब्बत करने वाले कम न होंगे, शायद तेरी महफिल में हम न होंगे 
भाजपा मांग कर रही है कि राज्य को अतिसंवेदनील घोषित किया जाए
उन्होंने कहा कि बंगाल में कानून व्यवस्था अच्छी है। उसके बाद भी भाजपा मांग कर रही है कि राज्य को अतिसंवेदनील घोषित किया जाए। भट्टाचार्य ने सवाल किया कि क्या यह पश्चिम बंगाल के लोगों का अपमान नहीं है। उन्होंने कहा कि हम अपने राज्य की छवि धूमिल करने की किसी भी कोशिश का विरोध करेंगे। भाजपा और प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के खिलाफ हाथों में तख्तियां ले हुईं महिला तृणमूल कार्यकर्ताओं ने केंद्र के विरूद्ध नारेबाजी की।
ये भी पढ़ें :-पीसी चाको बोले-दिल्ली में बीजेपी को हराना आप और कांग्रेस का लक्ष्य
तृणमूल कांग्रेस को यह ड्रामा बंद करना चाहिए : प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष 
तृणमूल के धरने पर प्रदेश भाजपा अध्यक्ष दिलीप घोष ने कहा कि पार्टी (तृणमूल कांग्रेस) को तय करना है कि वह चुनाव लड़ना चाहती है या फिर धरना जारी रखना चाहती है। उन्होंने कहा कि तृणमूल कांग्रेस को यह ड्रामा बंद करना चाहिए।

Sit-in demonstration by Trinamool Mahila Congress at Esplanade to protest against insult to #Bengal by #BJP pic.twitter.com/3bywtbzSKs
— All India Trinamool Congress (@AITCofficial) March 15, 2019

राज्य के हर मतदान केंद्र पर केंद्रीय बल तैनात किये जाए
बता दें कि भाजपा ने चुनाव आयोग से पश्चिम बंगाल में लोकसभा चुनाव 2019 के स्वतंत्र एवं निष्पक्ष चुनाव सुनिश्चित करने के लिए उसे अति संवेदनशील राज्य घोषित करने की मांग की थी। उसकी यह भी मांग की थी कि राज्य के हर मतदान केंद्र पर केंद्रीय बल तैनात किये जाएं। पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी ने बुधवार को आरोप लगाया था कि भाजपा केंद्रीय बलों की आड़ में छिपाने का प्रयास कर रही है क्योंकि वह राज्य में लोकसभा चुनाव 2019  में एक भी सीट नहीं जीत सकती है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button