लालू की सजा पर बोले तेजस्वी- मेरे पिता की जान को है खतरा

- in बिहार, राज्य

 पटना। चारा घोटाला के चौथे मामले में आज राजद सुप्रीमो लालू प्रसाद यादव को दो धाराओं में अलग-अलग सात-सात साल की सजा सुनाई गई है साथ ही उन्हें 30-30 लाख का अर्थदंड भी लगाया गया है। सजा के एेलान के बाद उनके छोटे बेटे तेजस्वी यादव ने भाजपा और जदयू के खिलाफ बड़ा अारोप लगाया है और कहा है कि ये साजिश की तहत हो रहा है। मेरे पिता की जान का खतरा है।

लालू की सजा पर बोले तेजस्वी- मेरे पिता की जान को है खतरातेजस्वी के आरोप पर सुशील मोदी का सवाल

इसका जवाब देते हुए भाजपा नेता सह उपमुख्यमंत्री सुशील मोदी ने कहा कि जब कोई व्यक्ति पुलिस की सुरक्षा में है तो उसे किस बात का डर है। अगर एेसा है तो उन्हें कोर्ट में जाकर अपील करनी चाहिए। कोई अगर उन्हें धमकी दे रहा है? कैसे उनकी जान को खतरा है जबकि उनसे किसी को मिलने तक की इजाजत नहीं। 

भाजपा और जदयू पर तेजस्वी ने किया जुबानी हमला

तेजस्वी ने कहा कि मैं न्यायालय के फैसले का सम्मान करता हूं। नीतीश कुमार और भाजपा ये लोग जानते हैं कि लालू के जेल से बाहर आते ही उनकी सारी चाल फेल हो जाएगी। इसीलिए लालू को जेल में ही रखो। लालू यादव निर्दोष हैं, ये बिहार की जनता जानती है। उनपर लगाए गए सारे आरोप गलत हैं। ये सब षड्यंत्र है और इसमें इन्हें कामयाबी नहीं मिलेगी। ये लोग किस हद तक जा सकते हैं ये देखना है।

तेजस्वी ने कड़े लहजे में कहा कि जबतक भाजपा और जदयू को बिहार से खदेड़कर दूर नहीं कर देते तबतक राजद का एक भी कार्यकर्ता चैन से नहीं बैठेगा। उन्होंने अपने नेताओं और कार्यकर्ताओं से मजबूती से इसका सामना करने की बात कही है। उन्होंने कहा कि अब हम उपरि अदालत में जाएंगे। 

तेजस्वी ने कहा कि इन लोगों के जितने सपने हैं सारे चकनाचूर हो जाएंगे। उनको पता है कि लालू यादव जेल से बाहर आ गए तो लोकसभा चुनाव में इनकी हार तय है, क्योंकि विपक्षी गठबंधन इतनी मजबूत हो जाएगी कि ये लोग धाराशायी हो जाएंगे। इसीलि ये सब चालें चली जा रही हैं।

You may also like

कांग्रेस का दलित-सवर्ण कार्ड में नहीं विश्वास : मदन मोहन

पटना। तकरीबन 11 महीने के लंबे अंतराल के बाद