लापता जवान की निर्ममता से हत्या, शव के साथ बर्बरता, आॅख भी निकाली

दो दिन पहले बार्डर की सफाई दौरान पाकिस्तानी रेंजरों की फायरिंग में घायल हो गया जवाव नौ घंटे बाद उसके शव को बार्डर के पास फेंका गया बीएसएफ ने इस बर्बर कार्रवाई पर पाकिस्तान से कड़ा विरोध जताया है

पाकिस्तानी रेंजरों का एक बार फिर से निर्ममता का चेहरा सामने आया है. पाकिस्तान रेंजरों ने एक जवान का अपहरण करके उसकी बर्बरता से हत्या कर दी . इसके बाद उसके शव को निचोड़ा.

इसके बाद जवान के शव को बार्डर के पास फेंक दिया. बर्बरता का आलम यह है कि पहले जवान का गला रेता गया फिर पूरे शरीर पर कई स्थानों पर वार किए गए. इसके बाद उसे पास से तीन गोलियां मारी गई.

शव पर कई जगहों से काटने के निशान मिले. उसके आॅख को भी निकाले की कोशिश की गई. उसके आॅख में भी एक गोली मारी गई. जवान को तीन गोलियां मारी गई. जवान की शिनाख्त नरेंद्र कुमार निवासी कला गांव सोनीपत (हरियाणा) के रूप में हुई है.

आधिकारिक सूत्रों के अनुसार बीएसएफ ने इस बर्बर कार्रवाई पर पाकिस्तान से कड़ा विरोध जताया है. एक एजेंसी के साथ बातचीत में बीएसएफ का कहना है कि यह घटना तब हुई, जब बीएसएफ के जवान टैक्टिकल पेट्रोलिंग कर रहे थे.

जवान के पार्थिव शरीर का पोस्टमार्टम कर दिया गया है, लेकिन शव परिवार को सौंपा गया या नहीं? इसके लिए कोई श्रद्धांजलि समारोह हुआ या नहीं? इस पर बीएसएफ ने चुप्पी साध रखी है. पोस्टमार्टम भी किसी अस्पताल की जगह बीएसएफ की कंदराल पोस्ट पर हुआ है.

बीएसएफ जवान को तीन गोलियां नजदीक से मारी गई हैं. इनमें एक दिल के पास, दूसरी जांघ और तीसरी बाईं आंख पर मारी गई है. घटना के बारे बताया जा रहा है कि मंगलवार सुबह बीएसएफ के आठ जवानों का गश्ती दल फेंसिंग के आगे सरकंडा काट रहा था.

इसी दौरान पाकिस्तानी रेंजरों ने बीएसएफ टीम पर गोलीबारी शुरू कर दी. जिसमे सेना का एक जवान घायल हो गया. घायल जवान को रेंजर अपने साथ ले गए. तकरीबन 9 घंटे के बाद तारबंदी के पास उसके शव को फेंक दिया गया.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बड़ी खबर: 68500 शिक्षक भर्ती में पुनर्मूल्यांकन के लिए आवेदन की अंतिम तारीख कल, ये देनी होगी डिटेल

बेसिक शिक्षा विभाग में सहायक अध्यापक भर्ती की