तो इसलिए 14 सालों तक सोती रही लक्ष्मण की पत्नी

महर्षि वाल्मीकि की रामायण में भगवान राम,माता सीता,भाई लक्ष्मण और रामभक्त हनुमान जैसे पात्रों के पराक्रम के बारें में भी आप सभी ने खूब सुना होगा. उसमे सब बताया गया है कि कैसे उन्होंने 14 वर्षों तक जंगलों में कठिन तपस्या की थी.

अब क्या आप यह जानते हैं कि रामायण में एक ऐसा पात्र था जिसके त्याग के बारे में काफी कम चर्चा होती है लेकिन वह त्याग बहुत मुश्किल था. जी दरअसल दक्षिण भारत की राम-कथा में लक्ष्मण की पत्नी उर्मिला के त्याग और बलिदान के बारें में जानकारी दी गई है जो बहुत लाजवाब है.

14 साल तक बिना सोये की भगवान की सेवा 

कहा जाता है दक्षिण भारत की रामकथा के अनुसार जब भगवान राम को वनवास मिला तो भगवान राम, माता सीता और लक्ष्मण वनवास की ओर जाने लगे उस दौरान उर्मिला ने भी साथ जाने के लिए कहा, लेकिन लक्ष्मण ने उन्हें अयोध्या में रहने का आदेश दिया जिसके कारन वह रुक गईं. इसके बाद कठिन से कठिन समय में भी उर्मिला के आंसू की एक बू्ंद तक नही गिरी.

कहा जाता है वनवास की पहली ही रात को जब राम और सीता सो गए तो लक्ष्मण उन दोनों की देखभाल कर थे और थोड़े ही देर बाद निद्रा देवी ने लक्ष्मण को नींद में जाने के लिए कहा, लेकिन लक्ष्मण ने सोने से माना कर दिया क्योंकि उन्होनें राम और सीता की 14 सालों तक बिना सोए उनकी देखभाल करने की प्रतिज्ञा की थी.

इस बात पर लक्ष्मण ने निद्रा देवी से अनुरोध किया की वे जाकर मेरे हिस्सें की नींद उर्मिला को दे दे और निद्रा देवी मान गईं और उन्होंने यह बात उर्मिला को बताई तो वह तुरंत तैयार हो गई. कहा जाता है इस तरह उर्मिला 14 सालो तक रात और दिन सोती रही और लक्ष्मण राम और सीता की सेवा करते रहे.

Loading...

Check Also

पुरुष एक दिन में 34 बार सेक्स के बारे में सोचते है, लेकिन महिलाओं की सोच के बारे में जानकर उड़ जाएगे होश

कुछ लोग इससे दूर भागते हैं बल्कि ये लाइफ का अहम हिस्सा है. इसी पर …

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com