रोहित शेखर तिवारी हत्याकांड मामला: पूर्व सीएम के बेटे रोहित शेखर की हत्या में पत्नी अपूर्वा गिरफ्तार

Rohit Shekhar Tiwari Death Case कांग्रेस के वरिष्ठ नेता और पूर्व मुख्यमंत्री दिवंगत नारायण दत्त तिवारी के बेटे रोहित शेखर तिवारी हत्याकांड मामले में दिल्ली पुलिस की क्राइम ब्रांच ने बुधवार को आरोपित पत्नी अपूर्वा शुक्ला को गिरफ्तार कर लिया। रोहित की मौत का मामला सामने आने के बाद से ही पत्नी अपूर्वा पुलिस के राडार पर थीं और पूछताछ के दौरान ही उस पर हत्या का शक था। पुलिस को अपूर्वा के खिलाफ पुख्ता सबूत मिले हैं, जिसके बाद बुधवार को गिरफ्तारी की गई है। इससे पहले रविवार और इससे भी पहले शनिवार को पुलिस ने अपूर्वा से 8 घंटे तक लंबी पूछताछ की थी। क्राइम ब्रांच का शक इसलिए भी गहराता रहा, क्योंकि पत्नी अपूर्वा शुक्ला जांच में बिल्कुल भी सहयोग नहीं कर रही थीं।

Loading...

क्राइम ब्रांच के सूत्रों का कहना है कि मरहूम अपूर्वा शुक्ला के खिलाफ पुख्ता सबूत मिलने के बाद पुलिस ने गिरफ्तारी की है। जो बात सामने आ रही है उसके मुताबिक, हत्या वाली रात यानी 15-16 अप्रैल की रात रोहित और अपूर्वा में जमकर झगड़ा हुआ था। इस दौरान अपूर्वा और रोहित ने एक-दूसरे का गला दबाया था। बता दें कि 16 अप्रैल को रोहित अपने बंगले के कमरे में मृत पाए गए थे। पुलिस ने हत्या की पुष्टि के बाद कई घंटे तक उनकी पत्नी से पूछताछ की थी, जिसके बाद क्राइम ब्रांच का शक अपूर्वा पर बढ़ गया था।

वहीं, मामला हाई प्रोफाइल होने के चलते रोहित के डिफेंस कॉलोनी स्थित घर सी-329 को क्राइम ब्रांच ने पिछले कई दिनों से इंवेस्टिगेशन सेंटर बना रखा था। परिवार के सभी सदस्यों को हिरासत में रखा हुआ था, उनसे पूछताछ हो रही था। इसके अलावा, अपूर्वा शुक्ला समेत सभी सदस्यों पर 24 घंटे नजर रखी जा रही थी। यहां तक कि रात को सोने से लेकर वाशरूम जाने व खाना खाने आदि के दौरान भी पुलिसकर्मी नजर रख रहे थे। 

फॉरेंसिक रिपोर्ट के मुताबिक, 16 अप्रैल को अपने कमरे में मृत पाए गए रोहित शेखर तिवारी को हत्या से पहले शायद कोई दवा दी गई थी। इतना ही नहीं, रिपोर्ट में यह भी सामने आया है कि गला घोंटने के पहले रोहित को कोई दवा देकर बेहोश किया गया था, जिसके असर से रोहित की अंगलियों का ऊपरी हिस्सा और की अन्य अंग नीले पड़े हुए थे। इससे यह पता चलता है कि उनके खून में ऑक्सीजन की कमी हो रही थी। हालांकि, पोस्टमॉर्टम और फरेंसिक रिपोर्ट में हत्या का जिक्र होने के बाद अब मौत की असल वजह का सामने आना जरूरी है।

…इसलिए नाक से निकला खून

पुलिस पुलिस के सूत्रों के मुताबिक, पोस्टमॉर्टम की फाइनल रिपोर्ट में दम घुटने से कान की नस फटने की बात कही गई है। इसी वजह से नाक से खून निकलना बताया गया है। उनके पेट में ऐल्कॉहॉल और अनपचा खाना मिला। इससे जाहिर होता है कि दवा खाने के कुछ ही मिनट बाद रोहित ने दम तोड़ दिया होगा। 

बता दें कि क्राइम ब्रांच के 25 से अधिक अधिकारियों की टीम कई दिनों से रोहित के डिफेंस कॉलोनी स्थित घर सी-329 में डेरा डाले डाले जांच में जुटी हुई थी। बताया जा रहा है कि हत्या के कई सबूत मिल चुके हैं। इससे पहले मंगलवार को एडिशनल पुलिस कमिश्नर, क्राइम ब्रांच, राजीव रंजन ने कुछ नई जानकारी देते हुए बताया था कि रोहित हत्याकांड में मुख्य संदिग्ध उनकी पत्नी अपूर्वा शुक्ला तो हैं ही। वहीं घटना वाली रात घर में मौजूद चालक अभिषेक व रोहित का मसाज करने वाला भोलू भी शक के दायरे में है। पुलिस अधिकारी के संकेत से ऐसा माना जा रहा था कि अपूर्वा शुक्ला पर हत्या करने व अभिषेक व भोलू पर आपराधिक साजिश में शामिल होने व सुबूत नष्ट करने की धाराएं लग सकती हैं।

शुरुआत में पुलिस यह मानकर जांच कर रही थी कि हत्या का मकसद अवैध रिश्ते को लेकर विवाद हो सकता है। इस एंगल को ध्यान में रखकर क्राइम ब्रांच रोहित की पत्नी अपूर्वा शुक्ला को केंद्र में रखकर जांच कर रही थी, लेकिन इस दिशा में कोई सबूत नहीं मिला। फिर पुलिस संपत्ति को लेकर हत्या किए जाने के एंगल पर जांच कर रही थी।

अपूर्वा का परिवार मनी माइंडेड
क्राइम ब्रांच की जांच के दौरान उज्ज्वला रोहित की मां उज्ज्वला शर्मा तिवारी के लगातोर चौंकाने वाले बयान आ रहे थे। बीते रविवार (21 अप्रैल) को उन्होंने कई नए खुलासे किए थे। उन्होंने कहा था कि रोहित पहली बार अपूर्वा से 2017 में लखनऊ में मिले थे। मेट्रोमोनियल साइट के जरिये इनका परिचय हुआ था। अपूर्वा मेरे करीबी रिश्तेदार की पत्नी पर रोहित से अवैध रिश्ते होने का शक करती थी जो गलत था। रोहित से शादी करने के बाद से ही अपूर्वा को रिश्तेदार व उनकी पत्नी से परेशानी थी। उन्होंने कहा था कि अपूर्वा का परिवार मनी माइंडेड है।

विवाह के पहले था बॉयफ्रेंड
उज्ज्वला ने कहा था कि विवाह के पहले अपूर्वा का बॉयफ्रेंड था। उनके पिता गलत बोल रहे हैं। अपने मेमेरे भाई राजीव के बेटे कार्तिक को सिद्धार्थ अपनी प्रॉपर्टी का हिस्सा देना चाहता है। इस बात से अपूर्वा नाखुश थी। राजीव और उनकी पत्नी ने 40 वर्ष मेरी व एनडी तिवारी की सेवा की है, इसलिए एनडी तिवारी इन्हें पुत्रवत मानते थे। मुझे कैंसर होने के बाद ये लोग मेरी सेवा के लिए मौजूद रहे। नवंबर 2017 में राजीव का परिवार मेरे यहां से तिलक लेन शिफ्ट हो गया था। तब कोई बात नहीं हुई। शादी के बाद रोहित जब डिफेंस कॉलोनी में रहने लगे तब शक होने लगा। उन्होंने कहा कि बच्चों के अंदरूनी मामलों में मैं दखल नहीं देना चाहती हूं। आजकल शादियां इतने विलंब से होती हैं। लड़के-लड़कियों की 35-40 साल तक शादी नहीं होती है। जवान बच्चे एक-दूसरे से हंसी मजाक कर लेते हैं, यह अलग बात है। अपनी कमी को छिपाने के लिए गलत आरोप लगाए जा रहे थे।

अपूर्वा और रोहित जून में लेने वाले थे तलाक
उज्ज्वला ने आरोप लगाया था कि अपूर्वा रोहित और सिद्धार्थ की प्रॉपर्टी हड़पना चाह रही थी। रोहित को यहां तक परेशान किया गया था कि उसने जब अपूर्वा से कहा कि तुम्हारी मां ने मेरी मां पर गलत और आधारहीन आरोप लगाए हैं, मैं तुम्हारी मां से मिलना नहीं चाहता हूं। मैं उनका मुंह नहीं देखना चाहता हूं, तब अपूर्वा ने रोहित से कहा था कि वह उनकी मां के लिए मध्य प्रदेश में मकान बनाकर दें। इस पर रोहित ने मना कर दिया था। उज्ज्वला ने आरोप लगाया कि इनके दिमाग में यह बात है कि एनडी तिवारी की अकूत संपत्ति है। इनके दिमाग में यही नाचता रहता है कि कैसे कितना निकाल लें। कई बार बातें हुई कि आपसी सहमति से अपूर्वा और रोहित का तलाक हो जाए। यह तय हुआ था कि जून में आपसी सहमति से तलाक लेकर दोनों अलग हो जाएंगे। 

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com