रोहित शेखर तिवारी की रहस्यमय परिस्थितियों में हुई मौत अब खुलासे के करीब है…

Loading...

उत्तर प्रदेश व उत्तराखंड के मुख्यमंत्री रहकर रिकॉर्ड कायम कर चुके कांग्रेस के दिवंगत नेता नारायण दत्त (Narayan Dutt Tiwari) के बेटे रोहित शेखर तिवारी (40) की रहस्यमय परिस्थितियों में हुई मौत अब खुलासे के करीब है। रोहित के घर में सुबह से चल रही कार्रवाई से ऐसा लग रहा है कि क्राइम ब्रांच को अहम सबूत मिल गया और जल्द ही केस का पर्दाफाश कर देगी। संभावना जताई जा रही है कि रोहित की हत्या में पत्नी अपूर्वा शुक्ला पर 302 और उज्ज्वला और घरेलू सहायकों पर 120 बी की धारा लगे।

कौन थी वह महिला जो रोहित के साथ कार में आयी थी?
दिल्ली पुलिस के क्राइम ब्रांच के सूत्रों के अनुसार, मौत वाले दिन रोहित शेखर के साथ एक ही कार में उसके परिवार की एक महिला सदस्य दिल्ली वाले आवास पर आई थी। इसी मसले पर घर में रोहित-अपूर्वा के बीच आपस में अनबन भी हुई थी।

क्राइम ब्रांच के विशेष सूत्रों ने बताया कि CCTV में रोहित के घर में प्रवेश करने का वीडियो कैद हुआ है। क्राइम ब्रांच द्वारा कई बार पूछे जाने के बाद भी परिवार के सदस्यों ने इस मसले पर जानकारी देने से इन्कार किया था।

अब क्राइम ब्रांच की टीम उस CCTV को दिखाकर करेगी पूछताछ
उस पारिवारिक सदस्य का नाम छुपाने की वजह के मामले में भी पूछताछ चल रही है। क्राइम ब्रांच की टीम दिल्ली स्थित डिफेंस कॉलोनी आवास में पूछताछ कर रही है। बताया जा रहा है कि घटना वाली रात अपूर्वा काफी देर तक अपने ग्राउंड फ्लोर में ही बैठी थी। किसी परेशानी की वजह से अपूर्वा सोने के लिए डेढ़ -दो बजे के बाद ही गयी थी गई थी। इस मामले में रोहित शेखर के विशेष नौकर भोलू मंडल उर्फ भूपेंद्र मंडल का बयान है काफी महत्वपूर्ण साबित हो सकता है।

मिली जानकारी के मुताबिक, दिल्ली पुलिस ने देर रात पोस्टमार्टम की प्रारंभिक रिपोर्ट के आधार पर डिफेंस कॉलोनी थाने में पहले अज्ञात के खिलाफ हत्या की धारा में मुक़दमा दर्ज किया। फिर जांच के लिए केस को क्राइम ब्रांच में ट्रांसफर कर दिया था।

क्राइम ब्रांच के अधिकारी दोपहर एक बजे डिफेंस कॉलोनी स्थित रोहित के घर पहुंच गए थे। तब से अब तक अधिकारी उनके घर के अंदर ही हैं। सभी सदस्यों से पूछताछ की जा रही है। पीएम रिपोर्ट में तकिया से मुंह और नाक दबाने से दम घुटने से मौत कि बात कही गई है, जिससे पुलिस को शक गहरा गया था। शक इसलिए भी गहराया, क्योंकि सोमवार की रात रोहित उत्तराखंड से वोट डालकर रात में घर पहुंचे थे और भूतल पर अपने कमरे में अकेले सो गए थे। बराबर वाले कमरे मै उनकी पत्नी अपूर्वा शुक्ला सोई थी। ये बात पुलिस को पहले दिन कहीं गई थी। धीरे धीरे जांच में पता चला कि रोहित का पत्नी से मधुर संबंध नहीं था। इसपर और शक गहरा गया था। शुक्रवार दोपहर से सभी से पूछताछ की जाने लगी। घर के सभी सदस्यों को अंदर से बाहर नहीं आने दिया गया। रातभर क्राइम ब्रांच के अधिकारी घर के अंदर ही है। शनिवार सुबह विशेष आयुक्त क्राइम ब्रांच सतीश गोलछा भी रोहित के घर पहुचे और कुछ घंटे बाद निकल गए। अभी रोहित के घर के चारो तरह पुलिस ने बैरिकेडिंग करना शुरू कर दिया है। 

पत्नी से पूछताछ के दौरान रोहित के ससुर भी मौजूद हैं और उनका कहना है कि उनकी बेटी ऐसा कुछ नहीं कर सकती है। सूत्रों के मुताबिक, पुलिस रोहित की पत्नी के फोन की सीडीआर भी खंगाल रही है? यह पता लगाया जा रहा है कि हादसे वाली रात को रोहित की पत्नी ने किस-किस से बात की?

बताया यह भी जा रहा है कि रोहित की मौत के मामले में मां उज्ज्वला तिवारी, पत्नी और उनके ससुर से भी पूछताछ हो रही है। इनके अलावा रोहित के भाई व नौकरों से भी सवाल किए जा रहे हैं। टीम में पूछताछ के लिए महिला पुलिसकर्मी भी मौजूद हैं।

इस बीच मरहूम रोहित की मां ने समाचार एजेंसी एएनआइ से कहा है- ‘रोहित और उसकी पत्नी के बीच शादी के पहले दिन से तनाव था। उनके मुताबिक, यह प्रेम विवाह (love marriage) था।’

कहा जा रहा है कि रोहित के घर में होने के दौरान जो भी सदस्य उस वक्त मौजूद था, सबसे पुलिस एक-एक कर पूछताछ करेगी। सूत्रों के मुताबिक, रोहित की मां उज्ज्वला से फिर पूछताछ होगी। इससे पहले शुक्रवार को रोहित की पोस्ट मार्टम रिपोर्ट के आने के बाद पुलिस ने हत्या की धारा में अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर लिया था।

इसके साथ ही शुक्रवार को ही रोहित की पत्‍‌नी, मां और बड़े भाई समेत घर में मौजूद अन्य सदस्यों से घंटों पूछताछ की गई है। वहीं जांच एजेंसियों ने घटनास्थल की जांच पड़ताल कर साक्ष्य जुटाने का भी प्रयास किया। उत्तराखंड में मतदान करने के बाद सोमवार को रोहित दिल्ली लौटे थे। इसके बाद मंगलवार की शाम को वह डिफेंस कॉलोनी स्थित घर में मृत अवस्था में पाए गए थे। इस पर एम्स के पांच डॉक्टरों के पैनल ने उनके शव का पोस्टमार्टम किया था। बृहस्पतिवार की शाम को यह रिपोर्ट पुलिस को सौंपी गई। इसमें रोहित की अप्राकृतिक मौत होने की बात सामने आई।

मुंह दबाकर की गई हत्या !

रिपोर्ट में बताया गया है कि किसी मुलायम वस्तु से उनके मुंह व नाम को दबाया गया, जिससे दम घुटने की वजह से उनकी मौत हुई है। रोहित के गले पर भी निशान पाए गए हैं। इससे माना जा रहा है कि तकिये से मुंह दबाकर रोहित की हत्या की गई है। मामला हाई प्रोफाइल होने की वजह से पुलिस आयुक्त अमूल्य पटनायक ने बृहस्पतिवार की रात में ही मामले को स्थानीय पुलिस से हटाकर क्राइम ब्रांच को सौंप दिया। इसके बाद क्राइम ब्रांच ने रात में ही अज्ञात के खिलाफ केस दर्ज कर जांच शुरू कर दी।

शुक्रवार की दोपहर करीब एक बजे क्राइम ब्रांच की टीम डिफेंस कालोनी स्थित रोहित के घर पहुंची। यहां रोहित के बड़े भाई सिद्धार्थ तिवारी, माली, घरेलू सहायक, और गार्ड से पूछताछ की गई। इसके बाद शाम को हरिद्वार से दिल्ली लौटने पर उनकी पत्नी अपूर्वा और मां उज्ज्वला शर्मा से पूछताछ की गई। इधर डीसीपी ज्वॉय टिर्की की टीम व सीबीआइ की सीएफएसएल की टीम ने घटनास्थल की बारीकी से जांच की। इस दौरान कई चीजों के नमूने लिए गए। क्राइम ब्रांच को साक्ष्य मिटाए जाने का भी शक है। इसके चलते रिपोर्ट दर्ज करते ही जांच तेज कर दी गई है।

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com