रिकार्ड टाइम में हुआ यूपी अकल्पनीय निवेश का शिलान्यास – मोदी

मनोज श्रीवास्तव/लखनऊ। प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने कहा है कि सामान्य जन को संकट से निकालना, उसे सुंदर बनाना ही हमारी सरकार का ध्येय है। वह उत्तर प्रदेश में देश के उधोगपतियों द्वारा राज्य की 81 परियोजनाओं पर 60 हजार करोड़ के निवेश कार्यक्रम के शुभारंभ पर संबोधित कर रहे थे।मोदी ने यूपी सरकार और नौकरशाहों को बधाई देते हुए कहा कि आप ने अकल्पनीय कार्य किया है।

modi in lucknowउद्योगपतियों को कागजी कार्यवाही में व्यवहारिक कठिनाइयों का आभास कराते हुए मोदी बोले कि देश को प्रधानमंत्री चला पाता है या पटवारी चला पाता है। मोदी वहां उपस्थित पूर्व सपा महासचिव राज्यसभा सांसद अमर सिंह का नाम लेकर कहा कि पिछली सरकारों में उधोगपतियों का कितना दुर्दशा और शोषण होता था अमर सिंह से पूंछ लें कि पिछली सरकारों में उधोगपति राजनेताओं के यहां कैसे दंडवत करते थे।

कांग्रेस अध्यक्ष राहुल द्वारा अपनी सरकार को उधोगपतियों की हितैषी कहे जाने का जवाब देते हुए उन्होंने कहा कि हम उधोगपतियों को अपमानित करेंगे चोर-लुटेरे कहेंगे ।किसके जहाज में ये लोग घूमते हैं पता नहीं है क्या?मैंने यूपी की 22 करोड़ जनता को वचन दिया था कि उनके प्यार को सूद समेत लौटाऊंगा,ये औधोगिक निवेश का शिलान्यास उसी का प्रयास है। मोदी ने कहा कि मैं लंबे अर्से तक मुख्यमंत्री रहा औधोगिक राज्य से आता हूँ 60 हजार करोड़ का निवेश कम नहीं होता।

यूपी सरकार की प्रसंसा करते प्रधानमंत्री ने कहा कि राज्य में विकास के लिए प्रतिवद्धता होती है तो रास्ते भी निकल आते हैं। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने कहा कि बसपा के 5 साल में कार्यकाल में यूपी में 57 हजार करोड़ का निवेश आया था, सपा सरकार के 5 साल में 50 हजार करोड़ का निवेश आया था लेकिन अब महज 1 साल के अंदर 4 लाख 68 हजार करोड़ के एमओयू साइन होकर अगले 5 महीने में 60 हजार करोड़ से ज्यादा की निवेश परियोजनाओं का शुभारंभ हो रहा है, आगे भी 50 हजार करोड़ की परियोजनाएं पाइपलाइन में है उन्हें भी जल्द मूर्तरूप देंगे, पश्चिमी यूपी में 51 फीसदी, पूर्वांचल में 23 फीसदी, मध्य यूपी में 22 फीसदी और बुंदेलखंड में 4 फीसदी निवेश परियोजनाओं की शुरुआत हो रही है, एक समय था जब मार्च 2017 से पहले बहुत सारे निवेशक यूपी से बाहर जाने को तैयार थे लेकिन आज यूपी में ऐसा माहौल है कि चाहे वो सैमसंग हो, एलजी हो या अन्य कोई निवेशक कंपनी, कोई भी यूपी से बाहर नही जाना चाहता है ।

उन्होंने सभी को इलाहाबाद कुंभ 2019 के लिए और वाराणसी में आयोजित होने वाले 15वें प्रवासी भारतीय सम्मेलन के लिए आमंत्रित करता हूं । स्थानीय सांसद तथा देश के गृहमंत्री राजनाथ सिंह ने कहा कि अभी तक देश के विकास का रास्ता दिल्ली,मुंबई और बैगलोर से ही होकर जाता था अब वह यूपी से होकर जाएगा। उधोगपतियों को प्रदेश में अच्छे कानून व्यवस्था की दुहाई देते हुए कहा कि जरूरत हुई तो हम आप को और अच्छी सुरक्षा व्यवस्था उपलब्ध करायेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

लापता जवान की निर्ममता से हत्या, शव के साथ बर्बरता, आॅख भी निकाली

दो दिन पहले बार्डर की सफाई दौरान पाकिस्तानी