राष्‍ट्रीय फुटबाल लीग चैंपियन मिनर्वा पंजाब के मालिक पर एक साल का बैन, 10 लाख जुर्माना

- in पंजाब, राज्य

चंडीगढ़। अखिल भारतीय फुटबॉल संघ (एआइएफएफ) ने राष्ट्रीय लीग चैंपियन मिनर्वा पंजाब एफसी के मालिक रणजीत बजाज को एक रेफरी पर नस्लवादी टिप्पणी करने का दोषी करार देते हुए एक साल का प्रतिबंध लगा दिया है। इस अवधि के दौरान वह फुटबॉल से संबंधित किसी तरह की गतिविधि में शामिल नहीं हो पाएंगे। एआइएफएफ की छत्रछाया में आयोजित होने वाले किसी मैच के दौरान स्टेडियम में प्रवेश करने की भी उन्हें अनुमति नही होगी। इसके साथ ही बजाज पर 10 लाख रुपये का जुर्माना भी लगाया गया है। 10 दिनों के अंदर जुर्माने की रकम अदा नही करने पर प्रतिबंध की अवधि बढ़ाई जा सकती है।राष्‍ट्रीय फुटबाल लीग चैंपियन मिनर्वा पंजाब के मालिक पर एक साल का बैन, 10 लाख जुर्माना

नस्लीय टिप्पणी करने का दोषी पाए जाने के बाद ऑल इंडिया फुटबाल फेडरेशन कमेटी ने सुनाई सजा

एआइएफएफ की ऊषानाथ बनर्जी की अध्यक्षता वाली अनुशासनात्मक कमेटी ने मामले पर 11 पन्नों की अपनी जांच रिपोर्ट में कहा है कि एक साल के अंदर रणजीत बजाज द्वारा किया गया यह चौथा अपराध है। उन्होंने एक अपराधी जैसा बर्ताव किया। मैच अधिकारियों को अपशब्द कहे, उन्हें खुले आम धमकियां दी, नस्लीय टिप्पणी की। एक स्पोर्ट्स क्लब के शिक्षित अभिभावक का व्यवहार इस तरह का नहीं हो सकता। बता दें कि रणजीत बजाज के माता-पिता पूर्व आईएएस अधिकारी रहे हैं। रणजीत बजाज इससे पहले भी कई मारपीट के मामलों में शामिल रहे हैं।

इसलिए लगा बैन

शिलांग के जवाहर लाल नेहरू स्टेडियम में 12 मई को आइजोल के खिलाफ अंडर -18 यूथ लीग मिनर्वा का मैच 1-1 से ड्रा हो गया था। इसी दौरान फेडरेशन की अनुशासनात्मक कमेटी ने पाया कि बजाज ने मैच के बाद मैच रेफरी पी मावथोह पर नस्लीय टिप्पणी की थी। उसकी शिकायत मैच रैफरी ने फेडरेशन से की थी।

मैच कमिश्नर की गवाही पर हुई सजा

मैच कमिश्नर बिश्वाजीत मित्रा ने बताया कि रणजीत बजाज ने मैच ऑफिशियल को मैच के दौरान न सिर्फ नस्लीय टिप्पणी की थी, बल्कि उन्हें गंदी गालियां और खुलेआम धमकी भी दी थी। यह किसी भी क्लब मालिक और पढ़े-लिखे इंसान को शोभा नहीं देता है। 

एआइएफएफ के सामने मिनर्वा रखेगा अपना पक्ष

मिनर्वा पंजाब एफसी की डायरेक्टर हीना बजाज ने कहा कि क्लब ऑल इंडिया फुटबाल फेडरेशन कमेटी (एआईएफएफ) के फैसले से काफी आहत है। यह बैन क्लब के ऑनर रणजीत बजाज पर लगाया गया है। हमारे खिलाड़ी हर टूर्नामेंट में खेलेंगे। फेडरेशन ने बिना जांच किए इधर-उधर से जानकारी लेकर यह कदम उठाया है। इसमें हमारे तरफ से रखे गए पक्ष की अनदेखी की गई है।

मिनर्वा की कामयाबी से कुछ लोग महसूस कर रहे हैं जलन

मिनर्वा पंजाब एफसी की डायरेक्टर हीना बजाज ने कहा मिनर्वा इस सीजन में काफी अच्छा प्रदर्शन कर रही हैं। उस जिस वजह से काफी लोग क्लब से जलन महसूस कर रहे हैं, लेकिन हमारे पास अभी भी कई विकल्प हैं और हम फुटबाल फेडरेशन के सामने अपना पक्ष रखेंगे।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पूर्व मंत्री सोमनाथ भारती पर पटियाला हाउस कोर्ट ने तय किए आरोप

नई दिल्ली। दिल्ली सरकार के पूर्व मंत्री सोमनाथ