राष्ट्रपति चुनाव: परिणाम आने से पहले ही यहां देखिये किसे मिले कितने वोट

पटना। राष्ट्रपति चुनाव के लिए सोमवार को 132 विधायकों ने एनडीए उम्मीदवार रामनाथ कोविंद के पक्ष में वोट डाले। विपक्ष की उम्मीदवार मीरा कुमार के पक्ष में राजद और कांग्रेस व भाकपा माले के 110 विधायकों ने वोट किया। एनडीए उम्मीदवार के पक्ष में भाजपा के 55, रालोसपा व लोजपा के दो-दो तथा हम के एक विधायकों के अलावा जदयू के 71 विधायकों ने वोट डाला। मीरा कुमार के पक्ष में राजद के 80, कांग्रेस के 27 और माले के तीन विधायकों ने वोट किये। मतदान के लिए सुबह साढ़े आठ बजे से विधायकों का आना शुरू हो गया।

राष्ट्रपति चुनाव परिणाम

पहला वोट डालने का सौभाग्य मिला भाजपा के संजय सरावगी को

पहला वोट डालने का सौभाग्य मिला भाजपा के संजय सरावगी को, जबकि अंतिम वोट भाकपा माले के सत्यदेव राम ने डाला। ढाई बजे तक सभी विधायक वोट डाल चुके थे। वोट के बाद संजय सरावगी ने कहा कि उन्हें खुशी है कि देश के पहल नागरिक के लिए होनेवाले मतदान में सबसे पहला मत मैंने डाला। मतदान के लिए पहुंचे सभी दलों के विधायक आपस में मौजूदा राजनीतिक स्थिति पर चर्चा कर रहे थे।

भाजपा नेताओं का दावा है कि कोविंद को चारों निर्दलीय विधायकों का समर्थन मिला

भाजपा नेताओं का दावा है कि कोविंद को चारों निर्दलीय विधायकों का समर्थन मिला। मतदान आरंभ होने के पहले ही विधानसभा के मुख्य द्वार से ही सुरक्षा व्यवस्था सख्त कर दी गयी थी। जितने भी विधायक मतदान के लिए अंदर प्रवेश कर रहे थे उन सभी का मोबाइल फोन और कलम मतदान कक्ष की ओर जाने के पहले ही जमा करा लिया गया। इसके बाद ही विधायक मतदान के लिए पहले तल पर जाते थे।

संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार के कक्ष में दर्ज की जाती रही

रामनाथ कोविंद के पक्ष में मतदान करनेवाले भाजपा सदस्य विरोधी दल के नेता डॉ प्रेम कुमार के कक्ष में अपनी उपस्थिति दर्ज कराते थे तो जदयू के सदस्यों की उपस्थिति संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार के कक्ष में दर्ज की जाती रही। भाजपा की ओर से विरोधी दल के नेता और विधानमंडल दल के नेता एनडीए के सभी नेता पूर्व उपमुख्यमंत्री सुशील कुमार मोदी, पूर्व मुख्यमंत्री जीतनराम मांझी सहित डॉ प्रेम कुमार, नंदकिशोर यादव, मंगल पांडेय विधानसभा में विपक्ष के नेता डॉ प्रेम कुमार के कक्ष में तबतक जमे रहे जबतक एनडीए के सभी विधायकों ने अपना मतदान नहीं कर लिया। भाजपा के विजय सिन्हा ने दो बजे के करीब अपना वोट डाला। विजय सिन्हा व नारायण प्रसाद को आने में देरी हो रही थी तो भाजपा के लोग उनसे फोन कर जल्द आने को कह रहे थे।

राजद व कांग्रेस के विधायकों की उपस्थिति उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के कक्ष में रही

राजद व कांग्रेस के विधायकों की उपस्थिति उपमुख्यमंत्री तेजस्वी यादव के कक्ष में रही। दोनों प्रत्याशियों के पक्ष में मतदान को लेकर अपनी पार्टी के विधायकों की मॉनीटरिंग के लिए जदयू की ओर से संसदीय कार्य मंत्री श्रवण कुमार व संजय सिंह उर्फ गांधी जी, राजद की ओर से उपमुख्यमंत्री तेजस्वी, भाई वीरेंद्र और कांग्रेस प्रदेश अध्यक्ष व शिक्षामंत्री अशोक चौधरी सक्रिय रहे।

loading...
=>

You may also like

18 नवम्बर दिन शनिवार का राशिफल : जानें आज किन राशियों पर मेहरबान होंगे भगवान् शनि

◆आज का पञ्चाङ्ग◆ 18 नवम्बर दिन शनिवार ऋतु-हेमन्त