योगी ने यूपी के मंत्रियों के विभागों का किया बंटवारा

लखनऊ। उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने बुधवार शाम को यूपी के मंत्रियों के विभागों का बंटवारा कर दिया। डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य को लोक निर्माण, खाद्य प्रसंस्करण, मनोरंजन कर, सार्वजनिक उद्यम विभाग का कार्यभार दिया गया है। अखिलेश यादव की सरकार में लोक निर्माण विभाग शिवपाल यादव के पास था।

एक नजर में यूपी के मंत्रियों के विभागों का बंटवारा

क्रिकेटर से विधायक बने चेतन चौहान को खेल और बीएसपी से बीजेपी में आए स्वामी प्रसाद मौर्य को श्रम एवं सेवा योजना, नगरीय रोजगार एवं गरीबी उन्मूलन विभाग की जिम्मेदारी मिली है। पूर्व प्रधानमंत्री लाल बहादुर शास्‍त्री के नाती सिद्धार्थनाथ सिंह को स्वास्थ्य विभाग की जिम्‍मेदारी दी गई है।

स्वाति सिंह को महिला कल्‍याण की जिम्मेदारी 

पूर्व सीएम मायावती से लोहा लेने वाली स्वाति सिंह को महिला कल्याण विभाग सौंपा गया। सीनियर बीजेपी लीडर लालजी टंडन के बेटे आशुतोष टंडन को बेसिक शिक्षा विभाग जबकि लखनऊ के पूर्व मेयर दिनेश शर्मा को उच्च शिक्षा विभाग की जिम्मेदारी दी गई है।

सीएम योगी ने गृह विभाग को अपने पास रखा

श्रीमती रीता बहुगुणा जोशी को परिवार कल्याण, मातृ एवं शिशु कल्याण, पर्यटन विभाग सौंपा गया। श्री दारा सिंह चैहान को वन एवं पर्यावरण, जन्तु उद्यान, उद्यान और श्री धरमपाल सिंह को सिंचाई विभाग की जिम्मेदारी मिली। सूर्य प्रताप सिंह को कृषि और जय प्रकाश सिंह को आबकारी विभाग की जिम्मेदारी मिली। श्री लक्ष्मी नारायण चैधरी को दुग्ध विकास, धमार्थ कार्य, संस्कृति, अल्पसंख्यक कल्याण और श्रीकांत शर्मा को ऊर्जा विभाग की जिम्मेदारी मिली। राजेंद्र प्रताप सिंह को ग्रामीण अभियंत्रण सेवा और श्री मुकुट बिहरी वर्मा को सहकारिता विभाग सौंपा गया। जबकि योगी आदित्यनाथ ने गृह और वित्त विभाग अपने पास रखे।

बीजेपी चीफ अमित शाह से की थी मंत्रणा

योगी आदित्यनाथ मंगलवार को दिल्ली में बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह से मिले थे, जहां उन्होंने उत्तर प्रदेश के मंत्रियों के विभागों के बंटवारे की बात की थी। बुधवार को यूपी के डिप्टी सीएम केशव प्रसाद मौर्य ने भी साफ कर दिया कि शाम 5 बजे सभी मंत्रियों के विभागों का बंटवारा होगा।

बुधवार को पहले दिन सचिवालय पहुंचे सीएम योगी

उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री का कार्यभार संभालने के बाद योगी आदित्यनाथ का बुधवार को मुख्यमंत्री कार्यालय में पहला दिन है। बुधवार सुबह योगी आदित्यनाथ ने राज्य के डीजीपी और मुख्य सचिव से मुलाकात की और इसके बाद बैठकों का दौर लगातार जारी रहा।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button