ये है अजब सीरियल किलर: बोर होने पर कर देता था मरीजों की हत्या

जर्मन पुलिस ने एक मेल नर्स को 100 से ज्यादा लोगों को मारने के आरोप में गिरफ्तार किया है। आरोपी पर अस्पताल के 6 मरीजोंको घातक दवाओं के जरिए मारने का आरोप साबित हो चुका है। कोर्ट ने शुक्रवार को उसपर 97 और मरीजों की मौत का मामले का ट्रायल शुरू कर दिया है। ओल्डेनबर्ग की क्षेत्रीय कोर्ट ने 41 साल के नील्स होगेल के खिलाफ कार्यवाही की सुनवाई करेगी। आरोपी पर जर्मन युद्ध के बाद के इतिहास में सबसे बड़े सीरियल किलर होने का आरोप लगा है।

 

ये है अजब सीरियल किलर: बोर होने पर कर देता था मरीजों की हत्याये है अजब सीरियल किलर: बोर होने पर कर देता था मरीजों की हत्यामाना जा रहा है कि होगेल मामले की सुनवाई मई 2019 तक चलेगी। नील्स के मामले का ट्रायल बड़े हॉल में होगा। जहां 120 सह-अभियोगी, उनके 17 वकील, लोग और संवाददाताओं मौजूद रहेंगे। उसपर आरोप है कि उसने मरीजों को ऐसा ड्रग दिया जिसकी वजह से दिल काम करना बंद कर देता है और रक्त प्रवाह का तंत्र रुक जाता है। वह ऐसा इसलिए करता था ताकि अपने साथ वालों और सीनीयर के सामने उन्हें बचा सकता और इससे उनके ऊपर उसका अच्छा प्रभाव पड़ता।

इस मामले को पुलिस ने जर्मन इतिहास में यूनिक करार दिया है। आरोपी का कहना है कि वह कई बार बोर होने पर ऐसा करता था और फिर मरीज को जिंदा करने की कोशिश किया करता था। अभी तक नील्स को 6 मामलों में दोषी करार दिया जा चुका है मगर जांचकर्ता 100 और डेड बॉडीज की जांच कर रहे हैं जिनकी मौत जहर से होने का शक है। जनवरी में ओल्डेनबर्ग ने कहा था कि आरोपी पर 97 और मौतों के मामले की जांच होनी चाहिए। साल 2015 में होगल को आजीवन कारावास की सजा मिल गई थी।

You may also like

मालदीव राष्ट्रपति चुनाव में यामीन को मिली हार, भारत समर्थक इब्राहिम मोहम्मद सोलिह जीते

भारत के लिए हिंद महासागर में खास अहमियत