कौन बनेगा राष्ट्रपति? ये हैं सत्ता पक्ष और विपक्ष का सबसे पसंदीदा नाम

- in राष्ट्रीय

राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी का कार्यकाल जुलाई 2017 में खत्म होने वाला है. इससे पहले नए राष्ट्रपति को लेकर राजनीतिक चर्चाएं तेज हो गई हैं. जहां बीजेपी अपने प्रत्याशी का चुनाव करने को लेकर माथा पच्ची कर रही है, वहीं एकजुट विपक्ष ऐसे प्रत्याशी की तलाश में है, जिस पर सभी दलों में आम सहमति हो.ये हैं सत्ता पक्ष और विपक्ष का सबसे पसंदीदा नाम

बीजेपी के नेतृत्व वाली एनडीए सरकार की लिस्ट में झारखंड की गवर्नर द्रौपदी मुर्मू का नाम शीर्ष पर बताई जा रही हैं. अगर द्रौपदी मूर्मू नई राष्ट्रपति चुनी जाती हैं, तो वह इस पद पर पहुंचने वाली आदिवासी समाज की पहली शख्सियत होंगी. इसके अलावा लालकृष्ण अडवाणी, सुमित्रा महाजन और थावर चंद गहलोत का नाम भी राष्ट्रपति की दौड़ में शामिल है.

वहीं, विपक्षी पार्टियां एक ऐसे प्रत्याशी को राष्ट्रपति चुनाव में उतारने की कोशिश में हैं, जिस पर आम सहमति हो. माना जा रहा है कि महात्मा गांधी के पोते गोपाल कृष्ण गांधी पर विपक्ष दांव खेल सकता है. इसके अलावा फली नरीमन, शरद पवार और शरद यादव के नाम की चर्चा है.

 इसके अलावा यह भी चर्चा है कि प्रणब मुखर्जी को फिर से राष्ट्रपति चुनाव मैदान में उतारा जा सकता है. बुधवार रात कांग्रेस अध्यक्ष सोनिया गांधी और पश्चिम बंगाल की मुख्यमंत्री ममता बनर्जी के बीच राष्ट्रपति चुनाव को लेकर विपक्ष के एजेंडे पर चर्चा हुई. हालांकि अगले सप्ताह विपक्षी पार्टियों की बैठक होगी, जहां पर उम्मीदवार पर फैसला हो लिया जाएगा.

राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के संभावित उम्मीदवार

1. द्रौपदी मुर्मू

झारखंड की गवर्नर द्रौपदी मूर्मू का नाम एनडीए की राष्ट्रपति उम्मीदवार की सूची में शीर्ष पर हैं. बीजेपी इनको राष्ट्रपति चुनाव मैदान में उतारकर सबको चौंका सकती है. अगर वह राष्ट्रपति चुनी जाती हैं, तो आदिवासी समाज से आने वाली पहली राष्ट्रपति होंगी.

2. सुमित्रा महाजन

लोकसभा अध्यक्ष सुमित्रा महाजन को भी राष्ट्रपति चुनाव के लिए एनडीए के उम्मीदवारों की सूची में शामिल हैं. बीजेपी इन पर भी दांव खेल सकती है.

अये भी पढ़े:भीअभी: बीजेपी के इस बड़े चेहरे की हुई मौत, पीएम मोदी संग पूरे देश में शोक की लहर…

3. थावर चंद गहलोत

बीजेपी केंद्रीय सामाजिक विकास एवं उद्यमिता मंत्री थावर चंद गहलोत को राष्ट्रपति चुनाव मैदान पर उतार सकती है. वह बीजेपी के बड़े दलित चेहरा हैं. इसके अलावा वह प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बीजेपी अध्यक्ष अमित शाह के बेहद करीबी माने जाते हैं.

4. जस्टिस पी सदाशिवम

भारत के पूर्व न्यायाधीश पी सदाशिवम भी राष्ट्रपति उम्मीदवार की दौर में आगे बताए जा रहे हैं. वह फिलहाल केरल के गवर्नर हैं.

5. लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी

हाल ही में बीजेपी के वरिष्ठ नेता लालकृष्ण आडवाणी और मुरली मनोहर जोशी को राष्ट्रपति चुनाव में एनडीए के प्रत्याशी के रूप में उतारे जाने की चर्चा जोरों पर थी. हालांकि बाबरी विध्वंस मामले में सुप्रीम कोर्ट के आदेश के बाद इनकी उम्मीद धूमिल होती जा रही है.

राष्ट्रपति चुनाव में एकजुट विपक्ष इन पर खेल सकता है दांव

1. गोपाल कृष्ण गांधी

बीजेपी के खिलाफ एकजुट विपक्ष महात्मा गांधी के पोते गोपाल कृष्ण गांधी को राष्ट्रपति चुनाव मैदा न में उतार सकता है. पश्चिम बंगाल के गवर्नर रह चुके गोपाल कृष्ण गांधी की एक प्रशासक के तौर पर भी पहचान हैं. बताया जा रहा है कि राष्ट्रपति उम्मीदवार के लिए विपक्ष की सूची में इनका नाम शीर्ष पर है.

ये भी पढ़े: अब दुश्मन में बढ़ेगा डर… भारत को मिला ये बड़ा हथियार

2. फली नरीमन

सीनियर एडवोकेट एवं पूर्व एडिशनल सॉलिसिटर जनरल फली नरीमन पर भी विपक्ष दांव लगा सकता है.

3. शरद पवार

नेशनलिस्टट कांग्रेस पार्टी (NCP) प्रमुख शरद पवार के नाम पर भी विपक्ष सहमत हो सकता है, लेकिन पार्टी का कहना है कि उसने इस प्रस्ताव को ठुकरा दिया है.

4. शरद यादव

जेडीयू के सीनियर नेता शरद यादव को राष्ट्रपति चुनाव में उतारने की चर्चा है. इन पर भी विपक्षी पार्टियां सहमत हो सकती हैं.

5. प्रणब मुखर्जी 

इसके अलावा यह भी चर्चा जोरों पर है कि विपक्षी पार्टियां मौजूदा राष्ट्रपति प्रणब मुखर्जी को फिर से उम्मीदवार बनाकर बड़ा दांव चल सकती हैं.

You may also like

सड़क पर चलना हो जाएगा महंगा, पेट्रोल के बाद 14% तक चढ़ सकते हैं CNG के दाम!

सड़क पर चलने वालों के लिए बुरी खबर है.