ये जंगल पूरी दुनिया में मशहूर है, आखिर क्यों कहते हैं इसे ‘सुसाइड फॉरेस्ट’, जानिए ….

ऐसा जंगल जो पूरी दुनिया में फेमस है और इसे लोग सुसाइड फॉरेस्ट के नाम से बुलाते हैं। इस जंगल को इस नाम से बुलाने की एक वजह है और इसी कारण इसे पूरे वर्ल्ड में सुसाइड फॉरेस्ट के नाम से भी जाना जाता है।ये जंगल पूरी दुनिया में मशहूर है, आखिर क्यों कहते हैं इसे ‘सुसाइड फॉरेस्ट’, जानिए ....

इस जंगल में एंट्री करते टाइम आपको कुछ ऐसा लिखा हुआ मिलेगा जिसे पढ़कर आपका अंदर जाने का मन नहीं करेगा। ये हरा-भरा सुंदर दिखने वाला जंगल मॉर्निंग वॉक के लिए नहीं बल्कि इससे जुड़ी डरावनी कहानियों के लिए जाना जाता है।

तो चलिए आपको घूमाते हैं सुसाइड फॉरेस्ट।

सुसाइड फॉरेस्ट लोकेशन
सुसाइड फॉरेस्ट माउंट फूजी के नॉर्थवेस्ट में स्थित है। यह 35 स्क्वेयर किमी के बड़े एरिया में फैला हुआ है। यह जंगल इतना घना है कि इसे पेड़ों का सागर भी कहते हैं। इस जंगल में खो जाना आम बात है। इस फॉरेस्ट के बारे में ऐसा कहा जाता है कि एक बार जो यहां गया उसका लौटकर आना बेहद मुश्किल है। जापान के इस फॉरेस्ट के बारे में पूरी दुनिया में चर्चें हैं। यह दुनिया के सबसे मशहूर सुसाइड जगहों में दूसरे नंबर पर है, यहां आपको बता दें कि पहला गोल्डेन गेट है। इस जंगल की दूरी जापान की राजधानी टोक्यो से महज दो घंटे से भी कम है।ये जंगल पूरी दुनिया में मशहूर है, आखिर क्यों कहते हैं इसे ‘सुसाइड फॉरेस्ट’, जानिए ....

सुसाइड फॉरेस्ट में एंट्री करते टाइम इस मैसेज को पढ़ें
जापान के इस फॉरेस्ट में एंट्री करते टाइम आपको ऐसा मैसेज पढ़ने को मिलेगा जिसे पढ़ने के बाद आपको इस फॉरेस्ट में एंट्री करने से डर लगेगा। “ध्यान से अपने बच्चों, परिवार और अपने जीवन के बारे में सोचें जो कि आपके माता-पिता का दिया अनमोल तोहफा है।“

अब आप ही सोचिए जिस फॉरेस्ट में एंट्री करते टाइम ही आपको ऐसा मैसेज पढ़ने को मिल जाएं क्या आपको डर नहीं लगेगा। ये चेतावनी भरे शब्द आपको पढ़ने को मिलेंगे जापान के ऑकिगहरा जंगल का प्रवेश करने पर। इस जंगल को पूरी दुनिया में सुसाइड फॉरेस्ट के नाम से भी जाना जाता है।

सुसाइड फॉरेस्ट जाते वक्त ध्यान रखें ये बातें
यह इलाका प्राकृतिक रूप से बेहद खूबसूरत है, लोग इस जंगल में घूमने जाते हैं वे अकेले नहीं जाते और यहां घूमने की एक ट्रिक यह भी है कि लोग साथ में प्लास्टिक टेप रखते हैं। रास्ता याद रहे इसलिए पेड़ों पर प्लास्टिक टेप बांधते हुए चलते हैं और इन सबके अलावा यहां करीब 300 साल पुराने अद्भुत पेड़ भी हैं।

सुसाइड फॉरेस्ट जाते टाइम आपको कुछ बातों का ध्यान रखना होगा। जैसे इधर-उधर भटकने की कोशिश बिल्कुल ना करें और साथ ही हमेशा निशान बनाकर चलिए। हमेशा प्लास्टिक टेप या रिबन मार्कर के तौर पर साथ रखिए। रात के टाइम इस फॉरेस्ट को ना घूमें और दिन में भी इस फॉरेस्ट को घूमने ना जाएं।

सुसाइड फॉरेस्ट से जुड़ी डरावनी कहानियां
ऐसा माना जाता है कि इस फॉरेस्ट में मरे हुए लोगों की आत्माएं रहती हैं। जापानी मॉयथॉलजी के मुताबिक इस जंगल में मरे हुए लोगों की आत्माएं रहती हैं। ऐसा कहा जाता है कि यहां 2003 से करीब 105 डेडबॉडीज खोजी जा चुकी हैं इनमें से ज्यादतर बुरी-तरह सड़ चुकी थीं और कुछ को जानवरों ने खा डाला था।

जापान के धार्मिक लोगों का मानना है कि इस जंगल में हुई आत्महत्याओं की वजह से यहां पैरानॉर्मल ऐक्टिविटीज होने लगी हैं। सबसे बड़ी दिक्कत यह है कि यहां कोई भी मॉडर्न टेक्नॉलजी जैसे कम्पस, मोबाइल फोन वगैरह काम नहीं करते। कम्पस से अजीब डायरेक्शन दिखती हैं जिसके चलते दिशाएं गलत दिखती हैं।

यहां पहुंचने पर मोबाइल फोन में भी सिग्नल नहीं आते हैं। इसकी वजह यह है कि इस इलाके में जो सॉइल है उसमें मैग्निटेक आयरन हैं इसलिए इस जंगल में पहुंचने के बाद वापस आना बेहद मुश्किल है।

लोगों का यह भी मानना है कि जो लोग यहां सूइसाइड करते हैं उनका शरीर यहां पड़ा नहीं रहना चाहिए। जंगल में काम करने वाले इन बॉडीज को पुलिस स्टेशन पहुंचाते हैं।

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com