ये आदते बनाती है टाइप २ डायबिटीज का शिकार..

स्वस्थ की दृष्टि से डायबिटीज का शुरुआती चरणों में केयर ाचा होता है जी हाँ टाइप 2 डायबीटीज ऐसी बीमारी है जिसमें खुद का ख्याल रखना बेहद जरूरी होता है। ऐसा नहीं होने पर व्यक्ति की हालत बिगड़ सकती है और उसकी जिंदगी तक जा सकती है। इस भयानक स्थिति से बचने के लिए अपनी लाइफस्टाइल में कुछ खास आदतों को शामिल किया जा सकता है।

Loading...

ज्यादा फैट होने पर हॉर्मोन इंसुलिन के प्रति शरीर की रोधक क्षमता बढ़ जाती है। इससे शुगर लेवल गड़बड़ होती है, जो डायबीटीज का कारण बन सकता है। रोज एक्सर्साइज करें, इससे न सिर्फ वजन को नियंत्रित रखने में मदद मिलेगी बल्कि ब्लड ग्लूकोज लेवल, ब्लड प्रेशर और कलेस्ट्रॉल को भी कंट्रोल में रखा जा सकेगा।

ध्यान देने वाली बात ये है की ज्यादा ऑइली फूड अवॉइड करें। तले हुए खाने से फैट, कलेस्ट्रॉल, बीपी और ग्लूकोज लेवल बढ़ता है जो डायबीटीज को न्योता देता है। चाहे मीठा कितना ही पसंद हो लेकिन इसे कम खाएं। यह डायरेक्ट शुगर बॉडी के ग्लूकोज लेवल को बढ़ाती है। लगातार ज्यादा मीठा खाने पर ग्लूकोज लेवल का प्रभावित होना तय है जो डायबीटीज का मरीज बना सकता है।फास्ट फूड से दूरी ही आपके लिए सही है।

दरअसल, ऐसे फूड जल्दी पच जाते हैं जिससे ब्लड में शुगर लेवल तेजी से बढ़ता है। साथ ही में यह कलेस्ट्रॉल भी बढ़ाता है जो डायबीटीज का कारण बन सकता है।  शराब और सिगरेट को ना कहें। शराब को बेली फैट बढ़ने के कारणों में से एक माना गया है। साथ ही में यह बीपी और ट्राईग्लीसेराइड साइकल को भी प्रभावित करती है। सिगरेट को भले ही आप डायबीटीज से कनेक्ट न करते हों लेकिन एक स्टडी में यह साबित हो चुका है कि ऐसे लोग जो स्मोक करते हैं उन्हें डायबीटीज का खतरा ज्यादा होता है।

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *