यूपी विधानसभा में आज कानून-व्यवस्था और कोरोना समेत विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की मांग को लेकर…

देवरिया से भाजपा विधायक जन्मेजय सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित करने के बाद शुक्रवार को विधानसभा की कार्यवाही स्थगित कर दी गई। अवकाश के बावजूद विधानसभा की बैठक कुछ देर में होगी। इसमें लगभग डेढ़ दर्जन विधेयक रखने के साथ ही अन्य विधायी कार्य होंगे। 

कानून-व्यवस्था और कोरोना समेत विभिन्न मुद्दों पर चर्चा की मांग को लेकर विपक्षी दल हंगामा कर सकते हैं। विधानसभा की कार्यवाही शुरू होते ही अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने जन्मेजय सिंह के निधन की सूचना दी। 
मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने शोक प्रस्ताव रखा। उन्होंने कहा कि 75 वर्षीय जन्मेजय सिंह वर्ष 2000 में पहली बार विधायक चुने गए थे। वर्ष 2012 और 2017 में वह लगातार चुनाव जीते। वह लोकप्रिय जननेता थे, जन आकांक्षाओं का सम्मान करते थे। 
वह कसिया सहकारी बैंक के संचालक रहे। वह गौरीबाजार क्षेत्र के प्रगतिशील किसान थे और कई शिक्षण संस्थानों से जुड़े हुए थे। उनके निधन से भाजपा को अपूरणीय क्षति हुई है। सपा के शैलेंद्र यादव ललई ने कहा कि जन्मेजय सिंह सरल व सौम्य स्वभाव के थे। कई जन आंदोलनों में वह जेल गए थे। 

बसपा के नेता लालजी वर्मा ने कहा कि वह पहली बार वर्ष 2000 में बसपा प्रत्याशी के रूप में उपचुनाव जीतकर विधायक बने थे। कांग्रेस की आराधना मिश्रा मोना, सुभासपा के ओमप्रकाश राजभर, अपना दल (सोनेलाल) के नील रत्न पटेल ने भी शोक व्यक्त करते हुए जनमेजय सिंह को श्रद्धांजलि अर्पित की।

विधानसभा अध्यक्ष ने कहा कि बृहस्पतिवार को चार सदस्यों को श्रद्धांजलि अर्पित की गई थी। शुक्रवार को पांचवें सदस्य के निधन पर वह अवाक हैं। सदन में दो मिनट का मौन रखकर दिवंगत सदस्य को श्रद्धांजलि दी गई। इसके बाद अध्यक्ष ने कार्यवाही शनिवार सुबह 11 बजे तक स्थगित करने की घोषणा की। लंबे समय बाद शनिवार को सदन की बैठक होगी।  

सपा-कांग्रेस ने स्थगित किए धरना-प्रदर्शन
सपा व कांग्रेस ने शुक्रवार को प्रस्तावित धरना-प्रदर्शन स्थगित कर दिए। सपा ने सरकार की जनविरोधी नीतियों के खिलाफ निकाली जाने वाली साइकिल रैली भी स्थगित कर दी। सपा अध्यक्ष अखिलेश यादव ने जनमेजय सिंह के निधन पर शोक व्यक्त करते हुए परिवार के प्रति संवेदना व्यक्त की। 

विधानसभा सचिवालय आज खुलेगा, मौजूद रहेंगे कर्मी 
विधानसभा अध्यक्ष हृदय नारायण दीक्षित ने कहा है कि विधानसभा के इस वर्ष के द्वितीय सत्र की कार्यवाही शनिवार के सार्वजनिक अवकाश में आहूत किए जाने के कारण विधानसभा सचिवालय 22 अगस्त को निर्धारित समयानुसार खुलेगा। 

जनप्रिय नेता थे जन्मेजय
विधानसभा अध्यक्ष ने जन्मेजय सिंह के निधन पर शोक संदेश में कहा है कि वह जनप्रिय नेता थे। सदैव अपने क्षेत्र के विकास एवं समाज के गरीब व कमजोर लोगों के उत्थान के लिए तत्पर रहते थे। उनके निधन से देवरिया जिले के साथ ही प्रदेश की जनता एवं भाजपा ने एक कुशल राजनेता खो दिया है।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button