यूपी में भी सरकारी नौकरियों के लिए रिक्रूटमेंट एजेंसी का होेगा गठन

सीएम योगी बोले, युवा हित में करने जा रहे निर्णय
लखनऊ। केन्द्र सरकार द्वारा युवाओं को सुविधाजनक तरीके से नौकरी प्रदान करने के उद्देश्य से नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के गठन को मंजूरी देने के बाद अब उत्तर प्रदेश सरकार भी इस तरह का कदम उठाने जा रही है। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने स्वयं इसकी जानकारी दी है। मुख्यमंत्री ने बुधवार को कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट संचालित करने के लिए केन्द्रीय मंत्रिपरिषद द्वारा नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के गठन के निर्णय का स्वागत किया है। उन्होंने इसके लिए प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी को हार्दिक बधाई दी है। मुख्यमंत्री ने कहा कि यह निर्णय ईज ऑफ रिक्रूटमेंट, ईज ऑफ सेलेक्शन तथा ईज ऑफ जॉब प्लेसमेंट प्रदान करते हुए युवाओं के लिए बेहतर ईज ऑफ लिविंग का आधार बनेगा। उन्होंने युवा पीढ़ी के हितों को ध्यान में रखकर यह निर्णय करने के लिए प्रधानमंत्री का हृदय से अभिनन्दन करते हुए कहा कि उत्तर प्रदेश सरकार भी युवा हित में ऐसा ही निर्णय करने जा रही है।
दरअसल देश में सरकारी नौकरियों के लिए 20 से ज्यादा भर्ती एजेंसियां हैं। सरकारी नौकरी के लिए युवाओं को बहुत से टेस्ट देने होते हैं। ऐसे में केंद्रीय मंत्रिमंडल ने इसे समाप्त करने के लिए एक ऐतिहासिक फैसला किया है। राष्ट्रीय भर्ती संस्था कॉमन एलिजिबिलिटी टेस्ट लेगी जिसका करोड़ों युवाओं को फायदा मिलेगा। सरकार के मुताबिक युवाओं की तरफ से यह मांग लम्बे समय से उठ रही थी। लेकिन, यह नहीं हो रहा था। अब नेशनल रिक्रूटमेंट एजेंसी के गठन से उनकी परेशानी दूर होगी, उनका पैसा भी बचेगा और मानसिक स्वास्थ्य भी ठीक रहेगा। बहुत दौड़-धूप नहीं करनी होगी और एक ही परीक्षा से युवाओं को आगे जाने का मौका मिलेगा।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button