युवा पीढ़ी के ज्ञान, चरित्र व संस्कार से ही आगे बढ़ेगा देश : रीता

- in उत्तरप्रदेश, लखनऊ

महिला एवं परिवार कल्याण मंत्री ने किया सीएमएस के मेधावियों का सम्मान

लखनऊ। सिटी मोन्टेसरी स्कूल द्वारा ‘मेधावी छात्र सम्मान समारोह’ का भव्य आयोजन आज सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) ऑडिटोरियम में सम्पन्न हुआ। मुख्य अतिथि के रूप में पधारी प्रदेश की महिला एवं परिवार कल्याण मंत्री रीता बहुगुणा जोशी ने विद्यालय के मेधावी छात्रों को सम्मानित किया। समारोह की खास बात रही कि इस अवसर पर मेधावी छात्रों के साथ ही उनके माता-पिता एवं शिक्षकों को भी सम्मानित किया गया। इस अवसर पर अपने सम्बोधन में मुख्य अतिथि रीता बहुगुणा जोशी ने कहा कि भारत युवाओं का देश है और युवा पीढ़ी के ज्ञान, चरित्र व संस्कार से ही हमारा देश आगे बढ़ेगा। मुझे प्रसन्नता है कि सी.एम.एस. के शिक्षक छात्रों की क्षमता व प्रतिभा को तराशकर समाज का आदर्श नागरिक बना रहे हैं। उन्होंने छात्रों को सलाह दी कि सकारात्मक विचारों के साथ आगे बढ़े और नकारात्मक भावों से दूर रहें। इससे पहले, मुख्य अतिथि रीता बहुगुणा जोशी ने दीप प्रज्वलित कर समारोह का विधिवत् शुभारम्भ किया जबकि सी.एम.एस. के क्वालिटी अश्योरेन्स एवं इनोवेशन डिपार्टमेन्ट की हेड सुस्मिता बासु ने मुख्य अतिथि, गणमान्य अतिथियों, छात्रों व शिक्षकों का हार्दिक स्वागत अभिनन्दन किया।

इस भव्य सम्मान समारोह में आई.सी.एस.ई. (कक्षा-10) की प्रथम इण्टर-कैम्पस कम्परेटिव परीक्षा में 96.22 प्रतिशत अंक अर्जित कर टॉप करने वाले सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) के छात्र शाश्वत वर्मा को विशेष रूप से पुरष्कृत कर सम्मानित किया गया एवं इनकी माताजी को फलों व फूलों से तौलकर जबकि इनके पिताजी एवं टीचर-गार्जियन को शॉल ओढ़ाकर सम्मानित किया गया। इसके अलावा, आई.सी.एस.ई. (कक्षा-10) की प्रथम इण्टर-कैम्पस कम्परेटिव परीक्षा की मेरिट सूची में प्रथम दस स्थानों पर रहे मेधावी छात्रों एवं सी.एम.एस. के विभिन्न कैम्पस के टॉपर छात्रों को भी सम्मानित किया गया। इससे पहले समारोह का शुभारम्भ सी.एम.एस. गोमती नगर (द्वितीय कैम्पस) के छात्रों द्वारा प्रस्तुत ‘स्कूल प्रार्थना’ एवं ‘वन्दे मात्रम’ की भावपूर्ण प्रस्तुतियों से हुआ। जहाँ एक ओर सी.एम.एस. आनन्द नगर कैम्पस के छात्रों ने ‘प्रार्थना नृत्य’ की मनभावन छटा प्रस्तुत कर सभी को मंत्रमुग्ध कर दिया तो वहीं दूसरी ओर सी.एम.एस. के संगीत शिक्षकों द्वारा प्रस्तुत प्रेरणादायी गीतों ने भी खूब तालियां बटोरी।

इस अवसर पर अपने संबोधन में सी.एम.एस. प्रेसीडेन्ट प्रो. गीता किंगडन ने विद्यालय के मेधावी छात्रों की अभूतपूर्व शैक्षिक उपलब्धियों के लिए बधाई देते हुए कहा कि आज ऐसी शिक्षा पद्धति की जरूरत है जो भावी पीढ़ी को वैश्विक दृष्टिकोण प्रदान करे। हमें पढ़ाई लिखाई के साथ ही व्यक्तित्व विकास पर भी ध्यान देना चाहिए और अपने आप से प्रतिस्पर्धा करनी चाहिए। इससे हम निरन्तर विकास करते रहेंगे और जीवन की हर परीक्षा में सफल होंगे। सी.एम.एस. संस्थापक व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. जगदीश गाँधी ने कहा कि सी.एम.एस. के छात्रों ने विश्व में एकता व सद्भाव की जो मशाल जलाई है उसकी रोशनी दूर-दूर तक उजाला फैलायेगी। डा. गाँधी ने कहा कि सी.एम.एस. समाज को बेहतर बनाने में एक विद्यालय के दायित्व को बखूबी निभा रहा है। आज के ये मेधावी छात्र अवश्य ही एक बेहतर समाज के निर्माण का कार्य करेंगे। समारोह के अन्त में सी.एम.एस. संस्थापिका व प्रख्यात शिक्षाविद् डा. भारती गाँधी ने सभी के प्रति हार्दिक धन्यवाद ज्ञापित किया।

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बसपा तैयार कर रही लोकसभा सीटों पर प्रत्याशियों की सूची

भाजपा के खिलाफ विपक्षियों के महागठबंधन से अलग