युवती ने युवती को बंधक बनवाकर करवाया गैंगरेप

आशा ज्योति केन्द्र में रेप और गैंगरेप का एक मामला सामने आया है। एक युवती ने अपने साथ रेप व गैंगरेप की शिकायत दर्ज कराई है। पीड़िता का आरोप है कि चारबाग स्टेशन पर मिली एक युवती ने उसे अपने जाल में फांसकर उसे देह व्यापार के धंधे में धकेल दिया। आरोपी युवती ने चारबाग के एक होटल में काम करने वाले आल मोहम्मद नाम के युवक से पीड़िता को मिलवाया था।युवक उसे नौकरी दिलाने का झांसा देकर आलमनगर में अपने कमरे पर ले गया। उसने वहां युवती को बंधक बनाकर रेप किया था। इस घटना के कुछ दिन बाद पीड़िता को अपने जाल में फंसाने वाली आरोपित युवती ने उसे तीन युवकों के हवाले कर दिया। आरोप है कि तीनों युवकों ने रेप किया। पीड़िता के विरोध करने पर आरोपित युवती ने उसे जान से मारने की धमकी दी। आशा ज्योति केन्द्र की टीम ने रेप के आरोपित आल मोहम्मद को गिरफ्तार कर लिया है

युवती ने युवती को बंधक बनवाकर करवाया गैंगरेप

पति से मिलने आजमगढ़ से जम्मू जा रही थी पुलिस के मुताबिक, आजमगढ़ निवासी युवती ने उन्हें बताया कि उसका बाल विवाह हुआ था। पति जम्मू में काम करता है। 15 जनवरी को वह वह पति से मिलने के लिए आजमगढ़ से जम्मू रवाना हुई थी, लेकिन गलत में ट्रेन बैठ जाने के कारण उसे मजबूरन चारबाग स्टेशन पर उतरना पड़ा। स्टेशन पर ही उसे आरोपी युवती मिली थी।

अवॉर्ड फंक्शन में ऐसे कपड़ों में पहुंचीं लेडी गागा, दिख गया सब कुछ

 पहले घर ले जाकर विश्वास जीता 
आरोपी युवती ने पीड़िता को मदद का झांसा दिया और अपने घर ले गई। पांच दिन बाद उसने पीड़िता को एक मोबाइल दिया। इसके बाद उसे घुमाने के लिए रेजिडेंसी ले गई। वहां युवती ने पीड़िता की मुलाकात बाराबंकी के आल मोहम्मद से करवाई। उसने झांसा दिया कि वह उसकी नौकरी एक होटल में लगवा देगा, जिससे वह रुपये कमाकर अपने पति के पास जा सकेगी। पीड़िता का आरोप है कि आरोपित युवती ने जो मोबाइल फोन उसे दिया था, रेप के बाद भी उस पर लोगों के कॉल आने और उससे अश्लील बातें करने का सिलसिला जारी रहा।

एक सामाजिक कार्यकर्ता ने की मदद
चार दिन पहले पीड़िता किसी तरह आरोपित युवती के चंगुल से छूटकर भागी। उसकी मुलाकात एक सामाजिक कार्यकर्ता से हुई। उन्होंने पीड़िता को लोकबंधु अस्पताल स्थित आशा ज्योति केन्द्र में पहुंचाया। केन्द्र पर तैनात इंस्पेक्टर मालती सिंह व काउंसलर अर्चना सिंह ने मामले को गंभीरता से लिया। उन्होंने पीड़िता के बताए पतों पर लगातार तीन दिन तक दबिश दी। टीम ने आरोपित आल मोहम्मद को शुक्रवार रात को दबोच लिया। सामाजिक कार्यकर्ता अर्चना सिंह का कहना है कि पीड़िता का मेडिकल लोकबंधु अस्पताल में कराया जा रहा

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button