यहां है किसी भी चीज को तोड़ने की छूट, गुस्सा निकालने के लिए दे सकते हैं आपने बॉस को गाली

- in मध्यप्रदेश, राज्य
इंदौर. विदेशों की तर्ज पर इंदौर में कैफे भड़ास खुला है जहां गुस्से को व्यक्त करने के लिए तोड़फोड़ करने की पूरी आजादी है। भड़ास अपनी तरह का एक अनोखा डेस्टीनेशन है जहां आप जितना और जितनी तीव्रता से चाहे अपना गुस्सा व्यक्त कर सकते हैं।
यहां है किसी भी चीज को तोड़ने की छूट, गुस्सा निकालने के लिए दे सकते हैं आपने बॉस को गाली
कैसा है ये गुस्सा व्यक्त करने वाला कैफे….
-यदि आप ऑफिस के काम पर या बॉस पर गुस्सा है तो कम्प्यूटर व ऑफिस फर्नीचर को तहस-नहस करके अपना गुस्सा व्यक्त कर सकते हैं।

ये भी पढ़े: पूर्व जिला पंचायत अध्यक्ष ने Ex भाजपा मंडल अध्यक्ष को जमकर पीटा, नाक से निकला खून

-यदि घर परिवार पर या खाने पर गुस्सा है तो घरेलू सामान व बरतनों को तोड़कर अपना गुस्सा निकाल सकते हैं।
-प्रेम में धोखा हुआ है तो उपहारों को तोड़ सकते हैं।
-व्यक्ति विशेष पर गुस्सा निकालने के लिए उसके फोटो पर बाक्सिंग के पंच मार सकते हैं और चाहे तो जमकर अपशब्दों का प्रयोग कर सकते हैं।
-जोर से रो कर मन को शान्त कर सकते हैं। यह सब आप एकदम अकेले कर सकते है जहां आपको कोई देख नहीं रहा है।

 
तोड़फोड़ से थक कर मनपसंद माहौल में शान्ति से बैठना
-विदेशों में इस तरह के एंगर रुम अक्सर मिल जाते है लेकिन एक अनूठी बात जो भड़ास में है वह शायद विश्व में कहीं नहीं मिलेगी।
-यदि तोड़फोड़ से थक कर मनपसंद माहौल में शान्ति से बैठना चाहते है तो बिना कुछ तोड़े सिर्फ सुकून के कुछ पल बिताना चाहते है तो वह सुविधा सिर्फ भड़ास पर मिलेगी।
-भड़ास में खूबसूरत फूल और पौधों के बीच झरने में बैठना है या अपनी पसंद को कोई म्यूजिक इंस्ट्रूमेंट स्वयं बजाकर स्वर लहरियों में खो जाना चाहते हैं। यह आपकी मर्जी है।
-रंगों से खेलते हुए मनचाही पेंटिंग बनाए अथवा किताबों की दुनिया में खो जाए।
-स्पोटर्स एरिया में जिम का आनंद ले अथवा बचपन के खेल कंचे, लट्टू, चोपड़ इत्यादि का मजा ले सकते है।
-मिलिटरी एरिया में जाकर स्वयं एक फौजी बन सकते हैं।
-यदि सिर्फ ध्यान और योगा करना चाहे तो वह भी कर सकते है।
 
सुरक्षा व प्राइवेसी पर भी पूरा ध्यान
-इसके साथ ही हमने यहां आने वालों की सुरक्षा व प्राइवेसी पर भी पूरा ध्यान दिया है।
-आप किस पर कितना गुस्सा निकाल रहे है क्या तोड़ रहे है यह सिर्फ आप तक ही सीमित रहेगा।
-तोड़फोड़ करने के लिए सुरक्षा का भी पूरा ध्यान भड़ास में रखा गया है।
-ट्रैक सूट, चश्मा, हेलमेट, ग्लव्ज से लेस होकर पूरी ताकत से मन में दबे गुस्से को निकाले चोट लगने की कोई संभावना नहीं हैं।
 
उम्र की कोई सीमा नहीं है
-युवाओं में इस कैफे के लिए बहुत उत्साह है और ये सभी भड़ास में आकर एक नया अनुभव लेना चाहते है। लेकिन इस कैफे में आने के लिए उम्र की कोई सीमा नहीं है।
-इसके साथ ही विभिन्न सुविधाओं की कीमत, वस्तुओं के दाम तथा विशेष छूट की जानकारी कैफे भड़ास पर आकर ले सकते है।
-यदि आपको लगता है कि सिर्फ गुस्सा निकालने से काम नहीं हो रहा है तो आपके लिए काउंसलर भी उपलब्ध हो सकते है जो आपकी डिमांड पर आएंगे।
=>
=>
loading...

You may also like

अभी अभी : ग्वालियर में आंध्र प्रदेश एक्सप्रेस में लगी भीषण आग, चारो तरफ मचा हडकंप

ग्वालियर । ग्वालियर में बिरला पुल के पास अचानक