मौसम विभाग की चेतावनी: 48 घण्टे में यूपी में तबाही मचाने आएगी आंधी 

यूपी के कानपुर शहर व आसपास के जिलों में पिछले दिनों आई आंधी से तबाही का मंजर अभी थमा ही नहीं था कि मौसम विभाग ने फिर से आंधी की चेतावनी दी है। विभाग की मानें तो 48 घंटे में धूल भरी आंधी आने का खतरा मंडरा रहा है।मौसम विभाग की चेतावनी: 48 घण्टे में यूपी में तबाही मचाने आएगी आंधी सीएसए मौसम विभाग ने चेतावनी दी है कि अगले दो दिनों में कानपुर समेत उत्तर प्रदेश के आसपास के जिलों में धूल भरी आंधी का खतरा है। विभाग ने आंधी का अलर्ट उत्तर प्रदेश के बांदा, चित्रकूट, फतेहपुर, हरदोई, शाहजहांपुर आदि जिलों के लिए जारी किया है। साथ ही कानपुर शहर समेत यूपी के कई जिलों में बारिश की भी संभावना जताई है।

पुरवैया की वजह से जगह-जगह बादल इकट्ठा होने से उमस बढ़ गई है। रविवार को हवा में नमी के साथ दिन और रात के तापमान में चार डिग्री सेल्सियस की बढ़ोत्तरी दर्ज की गई है। पिछले करीब तीन दिनों से पूरब की तरफ से चलने वाली हवा ने मानसून के आगमन का संकेत देना शुरू कर दिया है। इसकी वजह से दिन और रात के समय बादल आते-जाते रहेंगे।

जिस क्षेत्र में हवा के कम दबाव वाला क्षेत्र बनेगा, वहां पर बारिश होगी। अगले 72 घंटे में महानगर और इसके आसपास के क्षेत्रों में दिन में उमस और कड़ी धूप का असर रहेगा। बारिश होने की दशा में सुबह के समय तापमान में कमी आ सकती है।

भारतीय मौसम विभाग के अनुसार पिछले वर्ष की अपेक्षा इस बार जून महीने की शुरुआत से ही तापमान की स्थिति बेहतर है। पिछले वर्ष मानसून देर से आने की वजह से जून में बारिश भी देर से शुरू हुई थी। इस बार पहले दिन से ही बारिश का असर दिखने लगा है।

– अंधी, तूफान, बारिश आये तो कभी भी बिजली के खंबे के नजदीक ना खड़े हों।
– अगर कोई वाहन चला रहें है तो तुरंत उसे रोककर सड़क किनारे लगा दें।
– अांधी, बारिश आने की चेतावनी मिलते ही घर में पीने का पानी स्टोर कर लें।
– अपने मोबाइल और सभी उपकरणों की बैट्री चार्ज कर लें।
– सभी इलेक्ट्रॉनिक उपकरणों को बिजली के प्लग से हटा दें।
– घर में एक इमरजेंसी लाइट जरूर रखें। इस दौरान खाना बनाने में किसी भी तरह की आग का इस्तेमाल ना करें।
– आंधी तूफान के समय अपने परिचित या रिश्तेदारों से फोन पर संपर्क रखें।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

तो इस वजह से कांग्रेस के लिए दिग्विजय सिंह नहीं मांग रहे वोट

कांग्रेस नेता और मध्‍य प्रदेश के दो बार मुख्‍यमंत्री रहे