Home > राज्य > बिहार > मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांडः आरोपी मधु और डॉ अश्विनी सीबीआई हिरासत में भेजे गए

मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांडः आरोपी मधु और डॉ अश्विनी सीबीआई हिरासत में भेजे गए

बिहार के मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में आरोपी मधु और डॉ अश्विनी कुमार को स्थानीय अदालत ने पांच दिन के लिए केंद्रीय जांच ब्यूरो (सीबीआई) की रिमांड में भेज दिया है। गौरतलब है कि सीबीआई ने बीते मंगलवार को मामले से जुड़े इन दोनों आरोपियों को गिरफ्तार किया था। एनजीओ का संचालन करने वाली मधु मामले के मुख्य आरोपी बृजेश ठाकुर की राज़दार मानी जाती है। मुजफ्फरपुर बालिका गृह कांडः आरोपी मधु और डॉ अश्विनी सीबीआई हिरासत में भेजे गए

मंगलवार को सीबीआई अधिकारियों ने कहा था कि पूछताछ के दौरान उन्हे पता चला कि मधु बच्चों को सेक्स कैसे करते हैं, यह सिखाने में शामिल थी। हालांकि मधु ने पूछताछ के दौरान कहा था कि बालिका गृह में जो कुछ हुआ, उसके बारे में उसे कोई जानकारी नहीं थी। वहीं आरोपी डॉक्टर अश्विनी कुमार को सीबीआई ने कुधनी क्षेत्र से गिरफ्तार किया था। बता दें कि अश्विनी एक डॉक्टर है जो कथित रूप से नाबालिग लड़कियों को नशे के इंजेक्शन दिया करता था। 
 
उल्लेखनीय है कि इससे पहले इस मामले में जांच के दौरान दर्ज आर्म एक्ट केस में गिरफ्तारी से बचने के प्रयास में फरार चल रही बिहार की पूर्व मंत्री मंजू वर्मा ने बेगूसराय की एक अदालत में मंगलवार को आत्मसमर्पण किया। पूर्व मंत्री ने बड़े ही नाटकीय अंदाज में बुरका पहनकर एक ऑटो से मझौल अनुमंडल न्यायालय पहुंची और न्यायाधीश के समक्ष आत्मसमर्पण कर दिया। कोर्ट ने मंजू वर्मा को 11 दिनों की न्यायिक हिरासत में जेल भेज दिया है। मालूम हो कि मंजू वर्मा के पति चंद्रशेखर वर्मा भी अवैध हथियार रखने के मामले में जेल में बंद हैं। 

मंजू वर्मा की गिरफ्तारी को लेकर सरकार विपक्ष और कोर्ट के निशाने पर थी। सुप्रीम कोर्ट ने भी मंजू वर्मा की नहीं होने को लेकर बिहार सरकार को फटकार लगाई थी। वैसे मंजू वर्मा की गिरफ्तारी के लिए पुलिस बिहार समेत देश के अन्य इलाकों में भी उनके कई ठिकानों पर लगातार छापेमारी कर रही थी, लेकिन अंत तक पुलिस उन्हें नहीं खोज पाई। वैसे पूर्व मंत्री मंजू वर्मा के आत्मसमर्पण के बाद पुलिस मुख्यालय ने सफाई दी है। एडीजी एस. के. सिंघल ने कहा है कि पुलिस के दबाव में मंजू वर्मा ने आत्मसमर्पण किया है। पुलिस अब मंजू वर्मा की अचल संपत्ति और बैंक एकाउंट जब्त करने वाली थी, शायद इसी से डरकर उन्होंने आत्मसमर्पण किया है।

गौरतलब है कि मुजफ्फरपुर बालिका गृह मामले में 29 बच्चियों के साथ यौन उत्पीड़न की सनसनीखेज घटना के खुलासे के बाद बिहार सहित पूरे देश में इस घटना की चर्चा हुई थी।
Loading...

Check Also

मुजफ्फरपुर: नहीं ध्वस्त किया जाएगा शेल्टर होम, पहले लेनी होगी CBI से एनओसी

मुजफ्फरपुर: बिहार के मुजफ्फरपुर शेल्टर होम को ध्वस्त किए जाने पर रोक लगा दी है. मुजफ्फरपुर शेल्टर होम को …

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com