मुख्यमंत्री योगी ने हिन्दू नव वर्ष-चैत्र नवरात्र की दी शुभकामनाएं, कहा- बीमारी रोकने को नवरात्रि में घर में ही रहकर करें धार्मिक अनुष्ठान

लखनऊ। मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ ने चैत्र नवरात्र, हिन्दू नववर्ष की शुभकामनाएं देते हुए कोरोना वायरस को देखते हुए लोगों से नवरात्रि के धार्मिक अनुष्ठान घर में ही रहकर सम्पन्न करने की अपील की है। उन्होंने बुधवार को कहा कि नूतन वर्ष विक्रमी संवत-2077 की सभी को हार्दिक बधाई। आज हम कोरोना वायरस के रूप में एक वैश्विक महामारी का सामना कर रहे हैं। ऐसी चुनौतीपूर्ण घड़ी में प्रारंभ हो रहा यह नया वर्ष, हमें एकजुटता और बंधुत्व का संदेश देने वाला है। आइए! हम सब मिलकर इस समस्या के निदान हेतु संकल्पित हों।
उन्होंने कहा कि जगद्जननी मां जगदंबा की उपासना पर्व ‘चैत्र नवरात्र’ अखिल विश्व के लिए प्रकृति और शक्ति की आराधना तथा सत्य और संयम के प्रति संकल्पित होने का सुअवसर है। मां से प्रार्थना है कि वे हम सब को आशीर्वाद दें कि हम कोरोना महामारी से लड़ने में अपना योगदान दे सकें जिससे मानवजाति का कल्याण हो। मुख्यमंत्री ने कहा कि कि समय को देखते हुए और कोरोना वायरस की रोकथाम के लिए आप सभी लोग नवरात्रि के दौरान अपने घर में ही रहकर धार्मिक अनुष्ठान सम्पन्न करें। इससे इस संक्रामक बीमारी के प्रसार को रोकने में मदद मिलेगी। प्रभु श्री राम सबका कल्याण करें…जय मां जगदम्बे। जय श्री राम।
उपमुख्यमंत्री केशव प्रसाद मौर्य ने कहा कि चैत्र शुक्ल प्रतिपदा अर्थात ‘हिन्दू नव वर्ष’ नव संवत्सर विक्रम संवत् २०७७ की हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं। उन्होंने कहा कि वन्दे वाञ्छितलाभाय चन्द्रार्धकृतशेखराम्।
वृषारुढां शूलधरां शैलपुत्रीं यशस्विनीम्॥ चैत्र नवरात्रि की आप सभी को हार्दिक बधाई एवं शुभकामनाएं! प्रथम मां शैलपुत्री से सभी देशवासियों के उत्तम स्वास्थ्य की कामना करता हूं।
उन्होंने गुड़ी पड़वा एवं उगादी के पावन अवसर पर भी देश एवं प्रदेशवासियों को हार्दिक शुभकामनाएं दी। मौर्य ने कहा कि इस अवसर पर मैं ईश्वर से समस्त देश एवं प्रदेशवासियों के उत्तम स्वास्थ्य, सुख एवं समृद्धि की प्रार्थना करता हूं।
उपमुख्यमंत्री डॉ.दिनेश शर्मा ने भी हिन्दू नव वर्ष पर सभी को हार्दिक शुभकामनाएं दी। उन्होंने कहा कि आज विश्व विषम परिस्थितियों से गुजर रहा है, चारों ओर महामारी का प्रकोप है, लेकिन नववर्ष के आने के साथ-साथ ग्रह नक्षत्रों की दिशा भी बदलती है तो आइए इस नववर्ष पर विश्वशांति का संकल्प करें व मां शक्ति की उपासना करें।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button