मुख्यमंत्री ने वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लखनऊ, गौतमबुद्धनगर,कानपुर नगर, वाराणसी की पुलिस कमिश्नर प्रणाली की समीक्षा की

  • राज्य सरकार प्रदेश में सुदृढ़ और प्रभावी कानून व्यवस्था के लिए संकल्पबद्ध, इसके दृष्टिगत प्रदेश के 04 महानगरों में पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली लागू की गई: मुख्यमंत्री
  • पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली सामान्य पुलिसिंग से अलग, इस प्रणाली में अधिकारियों के पास न्यायिक दायित्व के दृष्टिगत वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की तैनाती की गई
  • चारों महानगरों में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू किए जाने के जनहित में व्यापक सकारात्मक प्रभाव दिखने भी चाहिए
  • पुलिस कमिश्नर प्रणाली को प्रभावी ढंग से संचालित करने के लिए मानव संसाधन एवं लाॅजिस्टिक की पूरी व्यवस्था की जाए
  • पुलिस कमिश्नर, अपर पुलिस कमिश्नर, ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आदि अधिकारियों के कार्यालय एवं आवास उनके  कार्यक्षेत्रों में ही स्थापित किए जाएं, जिससे क्षेत्र की जनता की अधिकारियों तक आसान एवं सहज पहुंच सुनिश्चित हो सके
  • कानपुर आउटर, लखनऊ ग्रामीण, वाराणसी ग्रामीण में पुलिस अधीक्षक एवं अपर पुलिस अधीक्षक के कार्यालय एवं आवास उनके कार्यक्षेत्र में ही स्थापित किए जाएं
  • लखनऊ ग्रामीण में अपर पुलिस अधीक्षक तैनात करने के लिए निर्देश
  • पुलिस कमिश्नर प्रणाली के चारों महानगरों में सेफ सिटी व्यवस्था को लागू करें, कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर को तेजी से सक्रिय किया जाए
  • को लागू करें, कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर को तेजी से सक्रिय किया जाए
  • मिशन शक्ति को लेकर पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली में विशेष प्रयास किए जाएं, यह सुनिश्चित किया जाए कि पुलिस कमिश्नरेट में प्रत्येक महिला अपने आपको सुरक्षित महसूस करे
  • प्रभावी पुलिसिंग के लिए व्यस्त बाजारों में फुट पेट्रोलिंग, स्थानीय प्रशासन, व्यावसायिक संस्थानों, शैक्षिक संस्थानों तथा अन्य सामाजिक संस्थानों के साथ संवाद और तालमेल बनाकर सहयोग प्राप्त करने के निर्देश
  • पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली से सम्बन्धित महानगरों में सुचारु ट्रैफिक के लिए नियोजित ढंग से कार्यवाही की जाए
  • पुलिस कमिश्नरेट एरिया में फायर फाइटिंग के आधुनिक उपकरण उपलब्ध कराए जाएं, स्थानीय विकास प्राधिकरण इस कार्य में सहयोग करें
  • सी0एम0 हेल्पलाइन एवं जन सुनवाई के तहत दर्ज शिकायतों का प्रभावी निस्तारण  किया जाए, शिकायतों के निस्तारण में शिकायतकर्ता की संतुष्टि ही मानक होनी चाहिए

लखनऊ: उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ जी ने कहा कि राज्य सरकार प्रदेश में सुदृढ़ और प्रभावी कानून व्यवस्था के लिए संकल्पबद्ध है। अपराधी और भ्रष्टाचार के सम्बन्ध में राज्य सरकार की जीरो टाॅलरेन्स की नीति है। इसी के दृष्टिगत प्रदेश के 04 महानगरों में पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली लागू की गई है। उन्होंने कहा कि पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली सामान्य पुलिसिंग से अलग है। इस प्रणाली में अधिकारियों के पास न्यायिक दायित्व भी होते हैं। इसमें पुलिस अधिकारियों की बड़ी भूमिका को देखते हुए पुलिस कमिश्नरेट में वरिष्ठ पुलिस अधिकारियों की तैनाती की गई है। उन्होंने कहा कि चारों महानगरों में पुलिस कमिश्नर प्रणाली लागू किए जाने के जनहित में व्यापक सकारात्मक प्रभाव दिखने भी चाहिए।


 मुख्यमंत्री जी आज यहां अपने सरकारी आवास पर वीडियो काॅन्फ्रेंसिंग के माध्यम से लखनऊ, गौतमबुद्धनगर, कानपुर नगर, वाराणसी की पुलिस कमिश्नर प्रणाली की समीक्षा कर रहे थे। समीक्षा के दौरान सभी पुलिस आयुक्तों ने अपने कार्यक्षेत्र में पुलिस कमिश्नर प्रणाली के क्रियान्वयन के लिए कार्यालयों की स्थापना, पुलिस थानों और पुलिस चैकियों की स्थापना एवं पुनर्गठन, पुलिस अधिकारियों एवं कर्मियों की तैनाती, अपराध नियंत्रण तथा कानून व्यवस्था की स्थिति आदि के सम्बन्ध में प्रस्तुतीकरण दिया।


मुख्यमंत्री जी ने निर्देश दिए कि चारों महानगरों में पुलिस कमिश्नर प्रणाली को प्रभावी ढंग से संचालित करने के लिए मानव संसाधन एवं लाॅजिस्टिक की पूरी व्यवस्था की जाए। उन्होंने कहा कि पुलिस कमिश्नर, अपर पुलिस कमिश्नर, ज्वाइंट पुलिस कमिश्नर आदि अधिकारियों के कार्यालय एवं आवास उनके कार्यक्षेत्रों में ही स्थापित किए जाएं, जिससे क्षेत्र की जनता की अधिकारियों तक आसान एवं सहज पहुंच सुनिश्चित हो सके। उन्होंने कहा कि कानपुर आउटर, लखनऊ ग्रामीण, वाराणसी ग्रामीण में पुलिस अधीक्षक एवं अपर पुलिस अधीक्षक के कार्यालय एवं आवास उनके कार्यक्षेत्र में ही स्थापित किए जाएं। उन्होंने लखनऊ ग्रामीण में अपर पुलिस अधीक्षक तैनात करने के लिए निर्देश भी दिए।

 मुख्यमंत्री जी ने पुलिस कमिश्नर प्रणाली के चारों महानगरों में सेफ सिटी व्यवस्था को लागू करने के निर्देश देते हुए कहा कि चारों महानगरों में कमाण्ड एण्ड कण्ट्रोल सेण्टर को तेजी से सक्रिय किया जाए। उन्होंने कहा कि मिशन शक्ति को लेकर पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली में विशेष प्रयास किए जाने चाहिए। यह सुनिश्चित किया जाए कि पुलिस कमिश्नरेट में प्रत्येक महिला अपने आपको सुरक्षित महसूस करे। उन्होंने प्रभावी पुलिसिंग के लिए व्यस्त बाजारों में फुट पेट्रोलिंग, स्थानीय प्रशासन, व्यावसायिक संस्थानों, शैक्षिक संस्थानों तथा अन्य सामाजिक संस्थानों के साथ संवाद और तालमेल बनाकर सहयोग प्राप्त करने के निर्देश भी दिए।


 मुख्यमंत्री जी ने कहा कि पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली एक बड़ा बदलाव है। लोगों को इस बदलाव का सुखद अहसास होना चाहिए। कोई जब इस क्षेत्र में प्रवेश करे तो उसे अनुभव होना चाहिए कि वह किसी विशिष्ट क्षेत्र में प्रवेश कर रहा है। चारों कमिश्नरेट बेहतर पुलिसिंग के लिए मानक प्रस्तुत करें। पुलिस कमिश्नरेट प्रणाली से सम्बन्धित महानगरों में सुचारु ट्रैफिक के लिए नियोजित ढंग से कार्यवाही की जाए। पुलिस कमिश्नरेट एरिया में फायर फाइटिंग के आधुनिक उपकरण उपलब्ध कराए जाएं। स्थानीय विकास प्राधिकरण इस कार्य में सहयोग करें। उन्होंने कहा कि वाराणसी में श्री काशी विश्वनाथ धाम और सारनाथ जैसे विशेष महत्व के क्षेत्रों पर सुरक्षा के पुख्ता इंतजाम होने चाहिए।

मुख्यमंत्री जी ने कहा कि सी0एम0 हेल्पलाइन एवं जन सुनवाई के तहत दर्ज की जाने वाली शिकायतों का प्रभावी निस्तारण सुनिश्चित किया जाना चाहिए। उन्होंने कहा कि शिकायतों के निस्तारण में शिकायतकर्ता की संतुष्टि ही मानक होनी चाहिए। उन्होंने कहा कि चारों महानगरों में लागू पुलिस कमिश्नर प्रणाली इसके लिए माॅडल स्थापित कर सकती हैं। इस सम्बन्ध में प्रभावी प्रयास सुनिश्चित करने के निर्देश देते हुए उन्होंने कहा कि निरन्तर समीक्षा से शिकायतों का प्रभावी और बेहतर निस्तारण सुनिश्चित किया जा सकता है।  


इस अवसर पर मुख्य सचिव श्री आर0के0 तिवारी, अपर मुख्य सचिव गृह श्री अनवीश कुमार अवस्थी, अपर मुख्य सचिव सूचना एवं एम0एस0एम0ई0 श्री नवनीत सहगल, अपर मुख्य सचिव मुख्यमंत्री श्री एस0पी0 गोयल, पुलिस महानिदेशक श्री हितेश सी0 अवस्थी, अपर पुलिस महानिदेशक कानून व्यवस्था श्री प्रशांत कुमार तथा सूचना निदेशक श्री शिशिर उपस्थित थे।——–

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button