मुंबई हादसा: 14 लोगों की मौत, BMC के 5 अधिकारी सस्पेंड

मुंबई में कमला मिल्स कंपाउंड में भीषण आग लग जाने की वजह से 14 लोगों की मौत हो गई है, जबकि 12 से ज्यादा घायल हो गए हैं। इसके बाद सरकार ने कड़ी कार्रवाई करते हुए मुंबई नगर निगम (बीएमसी) के पांच अधिकारियों को सस्पेंड कर दिया।
चश्मदीदों ने बताया कि इस हादसे में जिंदगियों का खाक होने की बड़ी वजह वहां मची भगदड़ थी। इस हादसे में मरने वाले 14 लोगों में से 12 महिलाएं हैं।

ऑनलाइन मीडिया रिपोर्ट्स के मुताबिक कमला मिल्स कंपाउंड के मालिक पर एफआईआर दर्ज कर ली गई है और पुलिस ये जानने में जुट गई है कि आग लगने की असली वजह क्या थी? बताया जा रहा है कि कंपाउंड में स्थित पब में आग लगी और उसके बाद वो फैलती चली गई।

जानिए पल-पल की अपडेट्स

– कमला मिल्स आग के मुद्दे पर लोकसभा में बीजेपी सांसद किरीट सोमैया और शिवसेना सांसद अरविंद सावंत में जोरदार बहस हुई।

– मुंबई आग हादसा लोकसभा में भी गूंजा है, जहां बीजेपी सांसद किरीट सोमैया ने फायर सर्विस के ऑडिट की मांग उठाई है। इस मुद्दे पर शिवसेना और बीजेपी के बीच बहस हो गई है।

– बताया जा रहा है कि खुशबू नाम की एक लड़की की बर्थडे पार्टी के दौरान अचानक पब में आग लग गई, जिससे ये हादसा हुआ।

– महाराष्ट्र के मुख्यमंत्री देवेंद्र फडणवीस ने हादसे को लेकर ट्विटर पर दुख जताया है। साथ ही उन्होंने जांच के आदेश भी दे दिए हैं। 

– एक सच सामने आया है कि कमला मिल्स कंपाउंड में अवैध निर्माण की शिकायत बॉम्बे नगर निगम को पहले ही की थी, लेकिन बीएमसी ने इनकार करते हुए मामले को दबा दिया था। 

– प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी ने ट्वीट करके मुंबई हादसे पर दुख जाहिर किया है। पीएम ने कहा कि उनकी हमदर्दी हादसे में मरने वाले और घायलों के साथ है और वे उम्मीद करते हैं कि घायल हुए लोग जल्द ही ठीक होंगे।
 
– घायलों के इलाज में लगे डॉ. राजेश डेरे ने पोस्टमाटर्म रिपोर्ट का हवाला देते हुए जानकारी दी है कि सभी 14 लोगों की मौत दम घुटने की वजह से हुई है। 

– बड़े हादसे पर राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने दुख जताया है और मरने वालों के परिजनों से सहानुभूति व्यक्त की है।

-आग का असर वहां स्थित मीडिया चैनल्स के दफ्तरों पर भी पड़ा है। टाइम्स नाउ, ईटी नाउ, मिरर नाउ चैनल्स का प्रसारण रुक गया। आग को लेकर कई खुलासे सामने आ रहे हैं, जिसमें ये माना जा रहा है कि शॉर्ट सर्किट की वजह से आग लगी थी।

आग इतनी तेजी से फैली की वहां मौजूद लोगों को भागने का मौका तक नहीं मिल सका। पुलिस की जांच में पता चला है कि बिल्डिंग में फायर एक्जिट और इमरजेंसी गेट तक बंद थे वहीं आग से बचाव के लिए बिल्डिंग में कहीं भी अग्निशमन यंत्र मौजूद ही नहीं थे। आग के दौरान रेस्टोरेंट में फंसे लोग बचने के लिए वॉशरूम में छुप गए  लेकिन फिर भी नहीं बच पाए। 

Facebook Comments

You may also like

अभी-अभी: योगी सरकार ने हज हाउस को किया सील, ये रही वजह

उत्तर प्रदेश की योगी सरकार ने राजनीतिक खींचतान