मिस इंडिया-2018 की फर्स्ट रनरअप बनी पंचकूला की मीनाक्षी चौधरी

- in राज्य, हरियाणा

चंडीगढ़। पंचकूला की मीनाक्षी चौधरी मुंबई में आयोजित मिस इंडिया-2018 में फस्र्ट रनरअप के रूप में चुनी गई हैं। डेराबस्सी के नेशनल डेंटल कॉलेज से बीडीएस कर रही मीनाक्षी ने यह खिताब अपने नाम किया। मीनाक्षी ने इससे पहले वर्ष 2016 में आयोजित मिस दीवा का टाइटल जीता था। साथ ही उसी वर्ष उन्होंने मिस इंडिया के लिए ऑडीशन भी दिए। सिलेक्ट न होने पर उन्होंने इस वर्ष पूरी तैयारी कर दोबारा ऑडीशन दिए।मिस इंडिया-2018 की फर्स्ट रनरअप बनी पंचकूला की मीनाक्षी चौधरी

मीनाक्षी ने कहा कि वह शुरू से ही पढ़ाई के प्रति जागरूक रही हैं। उनकी हाइट और अच्छी पर्सनेलिटी की वजह से उन्हें अकसर हर कोई मॉडलिंग करने की हिदायत देता। उन्होंने कहा कि पहले जब इसके बारे में उन्होंने सेना से रिटायर्ड अपने पिता से बात की तो उन्होंने बहुत सोचा और फिर विश्वास करते हुए उन्हें इस फील्ड में जाने के लिए इजाजत दी।

मीनाक्षी ने कहा कि वह खुद को फिट रखने के लिए स्पोट्र्स को भी काफी अहम मानती हैैं। वे स्वीमिंग की स्टेट प्लेयर भी रह चुकी है और इसके अलावा बैडमिंटन भी खेलती है। मीनाक्षी ने कहा कि उनकी प्रेरणा मानुषी छिल्लर है। मानुषी भी हरियाणा से ही हैैं और मिस वर्ल्ड बनी है। मीनाक्षी तीन-चार दिनों में पंचकूला में अपने गृह निवास पहुंचेगी।

अनुकृति चुनी गई ‘फेमिना मिस इंडिया 2018’

तमिलनाडु की अनुकृति वास को ‘फेमिना मिस इंडिया 2018’ चुना गया है। 29 प्रतिभागियों को पछाड़ खिताब जीतने वाली 19 वर्षीया अनुकृति ने एक सवाल का बेहतरीन जवाब दिया। अनुकृति से पूछा गया, ‘कौन बेहतर टीचर है? सफलता या असफलता?’ जवाब दिया, ‘मैं असफलता को बेहतर टीचर मानती हूं। क्योंकि जब आपको जिंदगी में सफलता मिलती है तो आप उसे पर्याप्त मान लेते हैं और आपकी तरक्की वहीं रुक जाती है। लेकिन जब आप असफल होते हैं तो आपको प्रेरणा मिलती है कि आप सफलता मिलने तक लगातार मेहनत करते रहें।’

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

बहराइच: मंत्री लगा रहीं ठुमके, बुखार से बच्चों की मौत का क्रम जारी

बहराइच तथा पास के जिलों में संक्रामक बुखार