माही ने छह साल बाद किया ये काम, खुश हो गए फैन्स

महेंद्र सिंह धौनी ने इंग्लैंड के खिलाफ वनडे और टी-20 सीरीज़ में दमदार प्रदर्शन किया। धौनी ने कटक वनडे में दमदार शतक जमाया तो माही ने टी-20 सीरीज़ के आखिरी मुकाबले में शानदार पारी खेलकर 20-20 ओवर के खेल में अपने करियर का सर्वाधिक स्कोर भी बनाया। लेकिन अब टीम इंडिया टेस्ट के इम्तिहान के लिए तैयारी कर रही है। धौनी टेस्ट क्रिकेट से संन्यास ले चुके हैं तो अब वो मैदान के बाहर के अपने रिकॉर्ड्स को तोड़ रहे हैं। धौनी ने छह साल बाद एक ऐसा ही रिकॉर्ड मैदान के बाहर तोड़ा है। टीम इंडिया के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी पूरे छह साल के बाद अपने ससुराल पहुंचे।

महेंद्र सिंह धौनी

 

उत्तराखंड की वादियों में अपनी बेटी जीवा का जन्मदिन मनाने पहुंचे भारतीय क्रिकेट टीम के पूर्व कप्तान महेंद्र सिंह धौनी पहाड़ों की रानी मसूरी में एक दिन बिताने के बाद रविवार को परिवार सहित देहरादून स्थित अपने ससुराल पहुंच गए। लगभग छह साल बाद वह दून स्थित अपने ससुराल गए हैं। धौनी का दीदार करने के लिए उनके प्रशंसक और मीडियाकर्मी घर के बाहर जमे रहे, लेकिन उन्हें निराशा ही हाथ लगी। सूत्रों की माने तो धौनी अपनी बेटी का जन्मदिन देहरादून में ही मनाएंगे। हालांकि जन्मदिन ससुराल में मनाया जाएगा या कहीं ओर इसे बारे में पता नहीं चल पाया है।

महेंद्र सिंह धौनी ‘माही’ शनिवार दोपहर मसूरी पहुंचे थे, जबकि पत्नी साक्षी व बेटी जीवा शुक्रवार को भी मसूरी पहुंच गए थे। लंबे अरसे बाद उत्तराखंड आए धौनी इस बार खास मौके के लिए आए हैं। मसूरी के रुकबी मैनोर होटल में वह परिवार व मित्रों के साथ एक दिन ठहरे। उम्मीद की जा रही थी कि वह बेटी का जन्मदिन मसूरी में मनाएंगे। हालांकि, रविवार सुबह साढ़े 11 बजे के करीब उन्होंने देहरादून की ओर रुख कर लिया। सभी को उम्मीद रही कि वह राजधानी देहरादून के नेमी रोड स्थित साक्षी के दादा-दादी के निवास जाएंगे। इसके चलते मीडियाकर्मी और उनके प्रशंसक घर के बाहर जमा हो गए और इंतजार करने लगे। लेकिन, वह यहां भी सभी को गचा दे गए।

सूत्रों की माने तो वह मीडियाकर्मियों के पहुंचने से पहले ही अपने ससुराल पहुंच गए थे। वहां मौजूद रहे पुलिसकर्मी सुरक्षा के लिए मौजूद नजर आए। आसपास के लोगों ने भी धौनी के घर में होने की पुष्टि की। शाम करीब पांच बजे वह परिवार सहित कार में बैठकर कहीं निकल गए। हालांकि घंटों इंतजार के बाद भी किसी को धौनी, साक्षी व जीवा के दीदार का मौका नहीं मिला। माही का उत्तराखंड से गहरा नाता रहा है।

जुलाई 2010 में उन्होंने दून की साक्षी रावत से विवाह किया। हालांकि इस दौरान भी उन्होंने मीडिया से दूरी बनाए रखी। सितंबर 2010 में एक बार फिर वह देहरादून आए। यहां प्रदेश सरकार ने उन्हें बाघ संरक्षण अभियान का ब्रांड अंबेसडर बनाया है। 

शाम को महेंद्र सिंह धौनी पत्नी साक्षी, बेटी जीवा व सास-ससुर सहित ग्राम मझौन पौंधा स्थित जसपाल राणा शूटिंग रेंज पहुंचे। वहां, अंतरराष्ट्रीय निशानेबाज पदम्श्री जसपाल राणा ने उनका स्वागत किया। धौनी ने परिवार सहित पूरी रेंज का दौरा किया और वहां तकरीबन दो घंटे बिताए। इस दौरान उन्होंने निशानेबाजी में भी हाथ आजमाया। 

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button