मारे गए पत्रकार के परिवार को एक करोड़ की आर्थिक सहायता देने की मांग

– एनयूजे, डीजेए और उपजा ने संयुक्त रूप से उठाई मांग

– प्रदेश में पत्रकारों पर बढ़ रहे हमलों के खिलाफ जताया रोष

लखनऊ/नई दिल्ली। नेशनल यूनियन ऑफ जर्नलिस्ट्स-इंडिया (एनयूजेआई) दिल्ली जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन (डीजेए) और यूपी जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन (उपजा) ने मुख्यमंत्री योगी आदित्यनाथ से वरिष्ठ पत्रकार रतन सिंह के परिवार को एक करोड़ रुपए की सहायता देने की मांग की है। सोमवार को बलिया जिले में सरेआम गोली मारकर उनकी हत्या कर दी गई थी।एनयूजे के अध्यक्ष रास बिहारी, दिल्ली जर्नलिस्ट्स एसोसिएशन के अध्यक्ष राकेश थपलियाल, महासचिव केपी मलिक और उपजा के अध्यक्ष रतन दीक्षित ने कहा कि मुख्यमंत्री ने जो मुआवजा राशि की घोषणा की है जो कि बहुत कम है जिसे बढ़ा कर एक करोड़ किया जाना चाहिए। बलिया जिले में पत्रकार की सरेआम गोली मारकर हत्या कर दी गई, पत्रकार की हत्या से मीडिया जगत में भारी रोष व्याप्त है। प्रदेश में पुलिस तंत्र पूरी तरह से विफल हो चुका है, खराब कानून व्यवस्था के कारण और उतर प्रदेश पुलिस की कार्यशैली के कारण ही पत्रकारों पर लगातार हमले बढ़ रहे है। समाचार चैनल के पत्रकार रतन सिंह को सोमवार देर रात बलिया जिले के फेफना में गोली मारी गई थी।

एनयूजे अध्यक्ष रास बिहारी ने भी पत्रकार रतन सिंह की हत्या की न्यायिक जांच कराने की मांग की है। उन्होंने उत्तर प्रदेश के मुख्यमंत्री से तत्काल मामले का संज्ञान लेते हुए उच्च स्तरीय जांच समिति का गठन और लापरवाही बरतने वाले पुलिसकर्मियों के खिलाफ भी कड़ी कार्रवाई और मुआवजा राशि बढ़ाने की मांग की। इसी प्रकार उपजा लखनऊ के   जिलाध्यक्ष भारत सिंह  ने मांग की है कि मुख्यमंत्री पत्रकारों की एक जाँच समिति बनवाकर घटना की रिपोर्ट तैयार कराएं और आरोपियों को दण्डित कर मृतक पत्रकार के परिवार को एक करोड़ रुपये सहायता उपलब्ध कराएं।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button