मानसून मस्ती का और आनंद उठने चाहते हैं तो एक बार जरुर जाये इन जगहों पर…

- in पर्यटन

मानसून के आते से ही मौसम में एक अजीब सी ठंडक घुल जाती हैं. जिसमे शरीर के साथ मन भी शांत हो जाता हैं. अगर आप इस मानसून मस्ती का और आनंद उठने चाहते हैं और कही घूमने का प्लान बना रहे हो तो आज आपको बताने जा रहे हैं हमारे ही देश में ऐसी खूबसूरत जगह जहां आप कम खर्च पर भी बहुत ज्यादा आनंद ले सकते हैं. यहाँ आप सिर्फ अकेले ही नहीं बल्कि अपने पुरे परिवार के साथ जाकर हल्की हल्की बारिश में हरी घास पहाड़ों और झरनों का आनंद ले सकते हैं. आइये आपको बताते हैं ऐसे ही खूबसूरत स्थानों के बारे में-मानसून मस्ती का और आनंद उठने चाहते हैं तो एक बार जरुर जाये इन जगहों पर...

उदयपुर, राजस्थान- राजस्थान पहले से ही अपनी खूबसूरती के लिए जाना जाता हैं. यहाँ पर बहुत सारे स्थान देखने लायक हैं. वही अगर इसमें उदयपुर की बात की जाये तो यह भी अपनी खूबसूरती के लिए जाना जाता हैं. इसीलिए इसे झीलों का शहर भी कह जाता हैं. इसी के साथ यहाँ पर पुरानी इमारतों के साथ और भी बहुत सारी जगह  देखने लायक हैं. जो आपके बजट में होगी.

मन्नार, केरल- मन्नार में खूबसूरत पहाड़ियों और चाय के बागानों के बिच मानसून का आनंद लेना एक अलग ही बात हैं. अगर किसी पहाड़ी जगह पर अच्छी छुट्टियां बिताने का मन है तो मन्नार ऐसी ही जगहों में से एक है. ये होटलों के किराये में छूट का फायदा उठाने का मौसम भी है. मानसून में मन्नार आएं तो छतरी या फिर रेनकोट साथ जरूर रखें. यहाँ ठहरने की भी बहुत ही उत्तम व्यवस्था हैं.

गोवा- भारत में घूमने के लिए तो गोवा को तो सब जानते हैं किन्तु इसकी एक खास बात यह हैं कि बरसात के मौसम में यहाँ की खूबसूरती में चार चाँद लग जाते हैं. इसमें दूधसागर झरना वो जगह है जहां बारिश के मौसम का रोमांच महसूस किया जा सकता है. गोवा के दक्षिणी हिस्से पर स्थित मोलेम और कर्नाटक सीमा से लगता हुआ दूधसागर झरने की मानसून के मौसम में बेहद लोकप्रिय जगहों में से एक है. 

कच्छ, गुजरात- यह जगह भी मानसून में अपने एक नए परिदृश्य में नजर आती हैं. स्वप्निल क्षितिज के साथ कभी न खत्म होनेवाला रेगिस्तान मानसून में लुभावने दृश्य उकेरता है. पूर्णिमा की रात कच्छ के रण में ऊंट की सवारी करना भी बहुत रोमांचकारी हैं.

लद्दाख, जम्मू और कश्मीर- अगर आपको पूर्ण रूप से बरसात का आनंद लेना हो तो आप एक बार लद्दाख  जरूर जाइये. बुद्ध मोनास्ट्री और ऐतिहासिक इमारतें यात्रियों के लिए सबसे बड़ा आकर्षण हैं. शहर के केंद्र में करीब 800 वर्ष पुराना काली मंदिर है जहां एक से बढ़कर एक मुखौटे देखने को मिलेंगे.  पैरा ग्लाइडिंग, हाइकिंग के अलावा भी यहाँ पर ऐसी जगह भी हैं जो शायद आपने पहले कभी न देखी होगी.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

अगर जा रहे हैं वैष्णों देवी घूमने, तो आसपास की इन जगहों पर घूमना न भूलें

ज्यादातर लोग वैष्णो देवी दर्शन को धार्मिक यात्रा