महाकाल के सच्चे भक्त होते है इन 4 राशियों के लोग, जिन्हें मिलता है मनचाहा वरदान

- in Mainslide, धर्म

अकाल मौत वह मरे जो काम करे चांडाल का, काल उसका क्या करे जो भक्त हो महाकाल का. कालो के काल महाकाल का नाम सुनते ही हर किसी के मन में महाकाल की भक्ति का संचार हो जा ता है. आज के समय में महादेव का भक्त हर कोई है. अपनी श्रद्धा अनुसार हर कौई भगवान् महादेव की अराधना करता है.

आज के समय में जहा देखो महाकाल के सेकड़ो भक्त आपको मिल जायेंगे. लेकिन कुछ व्यक्ति इसे भी होते है जो सिर्फ महादेव की ही आराधना करते है और दिन रात उनकी सेवा करते है. सच्ची श्रद्धा और भक्ति से भगवान् की आराधना कर वह भगवान् को प्रसन्न करने का प्रयास करते है.

कालो के कल का कोन सच्चा भक्त है इस बात का पता हम उनकी राशी अनुसार लगा सकते है. हम व्यक्ति की राशी से ज्यात कर सकते है की वह किस भगवान् का सच्चा भक्त है और वह किस देवता में सबसे अधिक विश्वाश करता है. राशी अनुसार चार राशियों केव्यक्ति भगवान् भोलेनाथ के सच्चे भक्त होते है. जिसमे सबसे पहली राशी आती है तुला राशी.

तुला राशी :-

वेसे तो हर राशी के व्यक्ति महाकाल के भक्त होते है लेकिन तुला राशी के व्यक्ति महाकाल के सच्चे भक्त कहलाते है. वह नित भोलेनाथ की अर्चना सच्ची श्रद्धा और भक्ति से करते है. जब वह पूजा करते है तो उन्हें किसी तरह की पूजा में रूकावट पसंद नहीं होती है. यदि कोई उनकी पूजा में विघ्नं डालता है तो वह अत्यधिक क्रोधित हो जाते है. तुला राशी के व्यक्ति को महाकाल का सच्चा भक्त माना जाता है.

कन्या राशी :-

तुला राशी के बाद सबसे सच्चा महाकाल के भक्त की श्रेणी में नाम आता है कन्या राशी के व्यक्तियों का. यह व्यक्ति सच्चे मन से भगवान्हो की अर्चना कर उन्हें प्रसन्न करने का प्रयास करते है. जब भी भगवान् का कोई कार्य होता है तो यह हमेशा तत्पर रहते है.

मकर राशी :-

मकर राशी के व्यक्ति भी महाकाल के सच्चे भक्त होने की श्रेणी में आते है. वह अपना मन सदेव महादेव की सी में लगते है. जिसके चलते उन्हें भोलेनाथ का सच्चा भक्त माना जाता है.

मीन राशि :-

अंत में नाम आता है मीन राशी के व्यक्तियों का जिन्हें महाकाल का सच्चा भक्त कहा जाता है. जब भी भगवान् का कोई कार्य होता है तो वह अपना सभी कम छोड़ कर भगवान् के कार्य को अधिक महत्त्व देते है. जब भी वह सच्चे मन से भगवान् का जप करते है तो फिर अपना ध्यान कही भी नहीं लगते सिर्फ उनके मन में भोलेनाथ का ही नाम होता है.

यह भी पढ़ें – ऋषिकेश में शहीद विकास गुरुंग की अंतिम यात्रा में उमड़ा जनसैलाब, ऐसे दी श्रद्धांजलि

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

नवाज और मरियम शरीफ को कोर्ट से मिली बड़ी राहत, सजा पर लगाई रोक

पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ को बड़ी राहत मिली