पीएम का नया फरमान अब नहीं गूंजेगी मस्जिदों में अजान….

जी हाँ!! पीएम का नया फरमान अब नहीं गूंजेगी मस्जिदों में अजान…. अगर आपको लगता है कि मस्‍जिदों में लाउडस्‍पीकर से आपकी नींद में खलल पड़ रहा है तो यह खबर आपके लिए है अब इजरायल सरकार ने इन लाउडस्‍पीकरों को मस्जिदों से हमेशा के लिए उतरवाने का मन बना लिया है।

पीएम का नया फरमान अब नहीं गूंजेगी मस्जिदों में अजान....

तीन तलाक से पहले मुसलमानों की ‘नसबंदी’, भाजपा सरकार का फैसला

इजरायल में एक ऐसा कानून आने जा रहा है जिससे मस्जिदों में लाउडस्‍पीकर से अजान पर रोक लग जाएगी। इस बिल के जरिए इजरायल और पूर्वी येरूशलम की सभी मस्जिदों में लाउडस्‍पीकर के प्रयोग पर पाबंदी लग जायेगी।

मुस्लिम समुदाय दिन में पांच बार नमाज पढ़ता है, इसपर यहूदी नागरिकों ने शिकायत की है कि इससे शोर होता है और सुबह-सुबह उनकी नींद खराब हो जाती है। कानून के प्रचारक कहते हैं कि यह कानून धार्मिक स्‍वतंत्रता पर लगाम लगाने के लिए नहीं, बल्कि बहुत ज्‍यादा शोर को रोकने के लिए है।

अभी-अभी: आरबीआई ने 500, 1000 के नोटों को लेकर लिया बड़ा फैसला

इस बिल को इजरायली प्रधानमंत्री बेंजामिन नेतन्याहू का भी समर्थन मिला हुआ है, जिन्‍होंने यूरोप और मध्‍य-पूर्व के देशों में कई विधेयकों का हवाला दिया है, जो प्रार्थना के घंटों या आवाज पर नियंत्रण रखते हैं। वाशिंगटन पोस्‍ट की रिपोर्ट के अनुसार उन्‍होंने कहा कि इजरायल धार्मिक स्‍वतंत्रता के लिए प्रतिबद्ध है मगर उसे शोर से अपने नागरिकों को जरूर बचाना चाहिए।

इस प्रस्‍तावित कानून की आलोचना पूरे देश में हो रही है मुस्लिमों का कहना है कि इससे इजरायल के यहूदियों और अरब के मुसलमानों बीच की खाई और बढ़ जाएगी। इजरायली अखबार मारीव में इजरायल डेमोक्रेसी इंस्‍टीट्यूट के नसरीन हदद हज-यहया ने लिखा है कि बिल का उद्देश्‍य असल शोर रोकना नहीं है, बल्कि शोर पैदा करना है जो कि मुस्‍लिम समाज को चोट पहुंचाना चाहते है़।  इस कानून पर फिलहाल बहस चल रही है। बिल लाने वालों को उम्‍मीद है कि अगले कुछ सप्‍ताह में यह पास हो जाएगा।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button