मरीजों को धोखा देकर ये डॉक्टर ऐसे बचा लेता था उनकी जान, तरीका जानकर चौक जाओगे…

Loading...

नीदरलैंड  के रॉटेरडम में भी कई महिलाओं ने आईवीएफ के जरिए मां बनने के लिए डॉक्टर जेन करबैट से संपर्क किया। जेन करबैट अपने मरीजों के साथ धोखा करता था। वह डोनर के स्पर्म से अपना स्पर्म बदलकर उसे आईवीएफ तकनीक के लिए इस्तेमाल करता था।

 

नीदरलैंड में डॉक्टर के इस धोखे का खुलासा तब हुआ जब ‘डिफेंस फॉर चिल्ड्रन’ नाम के एक संगठन ने आईवीएफ  के जरिए पैदा हुए बच्चों का डीएनए टेस्ट  करवाया। इस डीएनए टेस्ट में पता चला कि करबैट 49 बच्चों का पिता है। बता दें कि साल 2009 में डॉक्टर करबैट के क्लिनिक को अनियमितता की वजह से बंद कर दिया गया था। साल 2017 में करबैट ने अपनी अंतिम सांस लेते समय यह बात कबूली थी जिसके बाद लोग हैरान रह गए। एक डच कोर्ट द्वारा फैसला सुनाए जाने के बाद फरवरी में यह मामला सार्वजनिक हुआ।

तो इसलिए सड़कों पर खींची जाती है पीली और सफेद लाइन, जानें इसके पीछे का ये बड़ा राज…

89 साल की उम्र में करबैट ने यह बात कबूल की थी कि वह 60 बच्चों का पिता है। डॉक्टर करबैट की मौत के बाद कोर्ट ने फैसला दिया कि उसके डीएनए सैम्पल्स पीड़ित बच्चों के डीएनए से मैच कराए जाएं। ‘करबैट के बच्चों’ को न्याय मिलने में समय लगने की वजह से उन्होंने कोर्ट का दरवाजा खटखटाया जिसके बाद डीएनए टेस्ट की रिपोर्ट को सार्वजनिक किया गया। डिफेंस फॉर चिल्ड्रन संगठन का कहना है कि संभावना है कि करबैट 49 से ज्यादा बच्चों का पिता हो सकता है।

Loading...
loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Powered by themekiller.com anime4online.com animextoon.com apk4phone.com tengag.com moviekillers.com