मनप्रीत ने विधानसभा में बादल परिवार के खोले काई राज, मचा हंगामा

- in पंजाब, राज्य

चंडीगढ़। पंजाब विधानसभा में वित्त मंत्री मनप्रीत सिंह बादल ने आज बादल परिवार के राज खोले तो हंगामा हो गया। मनप्रीत ने बुधवार को सुखबीर सिंह बादल और बिक्रम सिंह मजीठिया पर ताबड़तोड़ हमेल किए। वित्तमंत्री ने कहा कि जो लोग कभी अपनी बहन की शादी पर किस्त पर गाड़ी लेकर देते थे। आज वह लोग करोड़ों की गाड़ियों पर घूम रहे हैं। इस पर शिरोमणि अकाली दल के विधायकों ने नारेबाजी शुरू कर दी।

पंजाब विधानसभा के बजट सत्र के अंतिम दिन वित्‍तमंत्री मनप्रीत बादल बजट पर चर्चा का जवाब दे रहे थे। इस दौरान वह पूरे फार्म मं दिखे। उन्‍होंने कहा कि सुखबीर और मजीठिया पर एक के बाद एक हमले किए। उन्‍होंने सुखबीर और मजीठिया द्वारा किए गए हमलों का जमकर जवाब दिया। मनप्रीत ने कहा कि अपनी बहन की शादी में जिन लोगों ने किस्‍त पर गाड़ी खरीदकर दी वे आज करो़ड़ों की गाडियों में कैसे चल रहे हैं। मनप्रीत बादल ने कहा, हमारे परिवार में विवाहित विक्रम मजीठिया की बहन को दी गई गाड़ी भी इन्होंने किस्तों पर ले कर दी।

वित्तमंत्री यहीं नहीं रुके। उन्होंने कहा कि मेरी ताई (पूर्व मुख्यमंत्री प्रकाश सिंह बादल की पत्नी) का जब निधन हुआ तो भोग पर लंगर एसजीपीसी ने लगाए। वित्त मंत्री ने पूर्व उपमुख्यमंत्री सुखबीर बादल पर हमला करते हुए कहा कि जिन लोगों ने पंजाब को लूटा, वे आज मेरे ऊपर उंगली उठा रहे हैं। मनप्रीत ने कहा कि गुड़गांव में 17 किल्ले जमीन पर सात स्टार होटल बनाया गया। सवाल है कि यह जमीन चौधरी देवीलाल ने बादल परिवार को क्यों दी। यह जमीन एसवाइएल पर समझौते के कारण दी गई।

अकाली दल द्वारा लगाए जा रहे आरोप की मनप्रीत को खजाना चलाना नहीं आता के बारे में मनप्रीत ने कहा, हां सही है, मुझे कई काम नहीं आता। मनप्रीत बेहद आक्रामक अंदाज में बोले, मुझे बसें चलानी नहीं आती है, मुझे होटल चलाना नहीं आता, मुझे चिट्टा भेजना नहीं आता और मुझे पंजाब का खजाना लूटना भी नहीं आता है।

यही नहीं जब अकाली दल के विधायक नारेबाजी करने लगे और सदन से जाने लगे तो मनप्रीत बादल ने उनको चुनौती दी कि अगर वे मर्द के बच्चे हैं तो मेरी बात सुनकर जाएं। मनप्रीत बादल ने कहा, जब मेरी ताई को कैंसर हुआ तो उसका खर्च पंजाब सरकार ने उठाया। यही नहीं 2017 में चुनाव परिणाम अभी आए नहीं थे कि तत्‍कालीन मुख्यमंत्री (प्रकाश सिंह बादल) अमेरिका में अपने हार्ट का इलाज करवाने के लिए गए। इसका खर्च भी पंजाब सरकार को ही उठाना पड़ा। इस बीच हंगामा बढ़ता देख स्पीकर ने सदन को 20 मिनट के लिए स्थगित कर दिया

विधानसभा में आज उस समय अजीब स्थिति हो गई जब पूर्व मंत्री राणा गुरजीत सिंह और आम आदमी पार्टी के सुखपाल सिंह खैहरा के बीच नोकझोंक मर्यादा की सीमाओं को लांघ गई। दाेनों नेताओं ने एक दूसरे के खिलाफ आपत्तिजनक शब्‍दों का इस्‍तेमाल किया। राणा गुरजीत ने अपशब्‍दों का प्रयोग किया तो सुखपाल खैहरा ने उन्‍हें बाहर देख लेने की धमकी दी।

You may also like

नवजोत सिद्धू को कैप्टन ने दिया बड़ा झटका, रेत खनन पर तेलंगाना मॉडल को नकारा

 स्थानीय निकाय मंत्री नवजोत सिंह सिद्धू को उनके