मदरसे पर लहराया गया तिरंगा बच्चों ने गया राष्ट्रगान, कहा-राष्ट्रधर्म सबसे बड़ा धर्म

अब तक भले ही मंदरसो में राष्ट्रीय पर्व पर तिरंगा न फहराने के आरोप लगते रहे हो, लेकिन उत्तर प्रदेश में एक मदरसा ऐसा है जहाँ न केवल तिरंगा लहरा रहा है बल्कि वहा अन्य सांस्कृतिक कार्यक्रम भी होगा।

गंगा जमुनी राज्य उत्तर प्रदेश के गोंडा शहर के मंदरसा अनवारुल इत्तेहाद में बड़ी शान से तिरंगा ही नहीं लहरा रहा है बल्कि नन्हे मुन्ने बच्चे स्वतंत्रता दिवस के राष्ट्रीय पर्व पर सांस्कृतिक कार्यक्रम भी करेंगे।

ऐसा नहीं है इससे पहले भी मदरसो में राष्ट्रीय पर्व मनाया जाता रहा है। लेकिन अब जैसे जैसे मुस्लिम समाज में जागरूकता आ रही है। वो देश के हर पर्व को जोशो खरोश से मना रहा है। गोंडा का यह वो मंदरसा है जहाँ बच्चो को दीनीतालीम के साथ साथ हिंदी और अंग्रेजी की शिक्षा भी दी जाती है ताकि वो देश और दुनिया के साथ खुद को जोड़ सके।

मंदरसे को संचालित करवा रहे ई जमील अहमद खान का कहना है कि हमारी तहज़ीब,रवायत में इस मुल्क की वफादारी लिखी है और हमे फक्र है कि हम भारतीय है, फिर क्यों न हम सभी शिक्षा केन्द्रो में चाहे वो मंदरसे ही क्यों न हो वहा शान से अपना तिरंगा फहराये।

उन्होंने कहा कि मुस्लिम समाज में अशिक्षा की वजह से ज़्यादा जागरूकता नहीं है, इसी का फायदा उठा कर दुष्प्रचार किया जाता है। मंदरसो में आप को तहज़ीब के साथ दुनिया के साथ कदम से कदम मिला कर चलना सिखाया जाता है। कम्प्यूटर शिक्षा और नई शिक्षा प्रणाली से जुड़ कर अब मंदरसे आधुनिकरण शिक्षा से जुड़ रहे है। जिसका नतीजा बेहतर निकलेगा।

किसी शायर ने ठीक ही कहा है कि मज़हब नहीं सिखाता आपस में बैर रखना हिंदी है हम वतन है हिन्दुस्तां हमारा। मुस्लिम समाज के इस ज़ज़्बे को सलाम।

Facebook Comments

You may also like

दूल्हे को मोबाइल पर बात करना पड़ गया भारी, हो गई मौत

शाम को बरात में दूल्हा बनने की तैयारी