भारत ने रोहिंग्याओं के लिए बांग्लादेश को राहत सामग्री प्रदान की

भारत ने हिंसा के कारण म्यामांर छोड़कर बांग्लादेश में शरणार्थी शिविरों में ठहरे रोहिंग्या मुसलमान शरणार्थियों के लिए सोमवार को बांग्लादेश को 11 लाख लीटर केरोसिन तेल और 20,000 स्टोव समेत राहत सामग्री दी. म्यामांर में पिछले साल सैन्य कार्रवाई के चलते देश छोड़ने वाले हजारों शरणार्थियों की मानवीय जरूरतों को पूरा करने के लिए शेख हसीना सरकार को दी गयी यह तीसरे चरण की सहायता है. म्यामांर से बड़े पैमाने पर रोहिंग्याओं के आ जाने से मुश्किल स्थिति में फंस गये बांग्लादेश ने अंतरराष्ट्रीय समुदाय से हस्तक्षेप करने और म्यामांर पर इस मुद्दे का समाधान करने के लिए दबाव डालने का आह्वान किया है. पिछले साल अगस्त से 7,00,000 रोहिंग्या मुसलमान म्यामांर के रखाइन प्रांत से भागकर बांग्लादेश आ गये. अगस्त में ही म्यामांर में सेना ने रोहिंग्या मुसलमानों के कथित आतंकवादी संगठनों के विरुद्ध अभियान चलाया था.

अमेरिका में फ्लोरेंस का कहर जारी, अब तक 31 लोगों की हुई मौत

बांग्लादेश में भारत के उच्चायुक्त हर्षवर्द्धन श्रंगला ने बांग्लादेश के आपदा प्रबंधन एवं राहत मंत्री मुफज्जिल हुसैन चौधरी को कोक्स बाजार में 11 लाख लीटर केरोसिन तेल और 20,000 केरोसिन मल्टी विक स्टोव सौंपे. भारतीय उच्चायोग ने एक बयान में कहा कि बांग्लादेश ने जो सहायता मांगी थी यह उसी के अनुसार है.

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

पिछले साल 50 हजार से ज्‍यादा भारतीय बन गए ‘अमेरिकी’, क्‍योंकि…

अमेरिका ने 50,000 से ज्यादा भारतीयों को 2017 में