भारत को संदेह है कि फैसले से पहले कुलभूषण को हो सकती है फांसी

हेग. इंटरनेशनल कोर्ट में कुलभूषण जाधव की फांसी को लेकर सुनवाई चल रही है. नीदरलैंड की हेग में यह सुनवाई हो रही है. भारत इसके लिए 11 जजों की बेंच के सामने अपना पक्ष रख चूका है. पाकिस्तान अपनी बात शाम लगभग 6:30 बजे रखेगा. भारत को संदेह है कि फैसले से पहले कुलभूषण को फांसी हो सकती है. 

भारत को संदेह है कि फैसले से पहले कुलभूषण को हो सकती है फांसी

भारत के वकील हरीश साल्वे ने कहा कि जाधव को 3 मार्च को गिरफ्तार किया था और जासूसी की आरोपों में उन्हें सजा-ए-मौत सुनाई गई है. भारत ने कहा कि पाकिस्तान ने मानवाधिकारों की धज्जियां उड़ा दी है. हम जाधव के लिए उचित क़ानूनी प्रतिनिधित्व चाहते है. भारत की ओर से यह भी कहा गया कि 46 वर्षीय जाधव को राजनयिक मदद के सभी आग्रहों को अनसुना कर दिया गया. वर्तमान समय में हालात बहुत गंभीर है.

ये भी पढ़े: पायलट को भूख लगी तो उसने हेलीकॉप्टर को दुकान के सामने लैंड किया

इतना ही नहीं पाकिस्तान ने जाधव की कूटनीतिक पहुंच के उसके 16 आग्रह तक ठुकरा दिए इसी कारण भारत इस मामले में इंटरनेशनल कोर्ट ऑफ़ जस्टिस का हस्तक्षेप चाहता है. भारत का कहना है कि जाधव भारतीय नौसेना से रिटायर हो कर ईरान में अपना व्यवसाय कर रहे थे, जहां से उनका अपहरण कर लिया गया जबकि पाकिस्तान का दावा है कि उसने जाधव को अशांत बलूचिस्तान क्षेत्र से गिरफ्तार किया था.

=>
=>
loading...

You may also like

भारतीय दूतावास के फील्ड ऑफिस को जल्द ही बंद करेगा नेपाल

नई दिल्ली: नेपाल के प्रधानमंत्री केपी शर्मा ओली ने