भारत के बयान पर बिफरा मालदीव, कहा- हालातों को नहीं जानता इंडिया

इमरजेंसी की अवधि बढ़ाने पर भारत के बयान पर मालदीव बिफर गया है। भारत ने इसे असंवैधानिक करार दिया था। इसके जवाब में मालदीव ने कहा कि भारत जमीनी हकीकत को नहीं जानता है और इसे तोड़ मरोड़ कर पेश कर रहा है। मालदीव ने कहा कि भारत हमारे राजनीतिक हालातों के बारे में अवगत नहीं है और उसका बयान हमारे संविधान और कानून की अनदेखी है।

भारत के बयान पर बिफरा मालदीव, कहा- हालातों को नहीं जानता इंडिया आपको बता दें कि मालदीव में राजनीतिक अस्थिरता की वजह से गत 5 फरवरी को इमरजेंसी की घोषणा कर दी गई है। पहले यह इमरजेंसी 20 फरवरी को खत्म होनी थी लेकिन सरकार ने ससंद में इमरजेंसी को 30 दिनों तक लागू रखने पर मंजूरी पा ली है। विपक्ष के विरोध के बावजूद इमरजेंसी को 30 दिनों तक लागू रखने पर मंजूरी पा ली है।

भारत ने इमरजेंसी लागू करने के तरीके पर चिंता जाहिर करते हुए मालदीव के तरीके को असंवैधानिक बताया था। इस पर मालदीव के विदेश मंत्री का कहना है कि इसमें कोई संशय नहीं है कि मालदीव इतिहास की अब तक सबसे कठिन परिस्थितियों का सामना कर रहा है। इसलिए यह महत्वपूर्ण है कि हमारे मित्र और सहयोगी देश, भारत सहित। ऐसी कार्रवाई और बयान से बचें जो मालदीव की समस्या को निपटने में बाधा उतपन्न करे।

You may also like

राफेल डील पर फ्रांसीसी कंपनी ने दिया बड़ा बयान, कहा- सौदे के लिए रिलायंस को हमने चुना

फ्रांस के पूर्व राष्ट्रपति फ्रांस्वा ओलांद के बयान के बाद