भारत की सरजमीं पर राफेल को लैंड कराने में यूपी के दो विंग कमांडर भी थे शामिल

फ्रांस से पांच राफेल विमानों की पहली खेप बुधवार को भारत पहुंच गई। हरियाणा के अंबाला एयरबेस पर दोपहर 2 बजे के आसपास इनकी लैंडिंग हुई। राफेल को उड़ा कर भारत लाने वाली टीम में उत्तर प्रदेश के दो विंग कमांडर मनीष सिंह और अभिषेक त्रिपाठी भी शामिल थे। इस बात की जानकारी मिलते ही दोनों विंग कमांडर के गांव में खुशी की लहर दौड़ पड़ी।

बलिया जिले के जांबाज विंग कमांडर मनीष सिंह आर्मी से रिटायर मदन सिंह के बेटे हैं। मनीष का छोटा भाई अनीश सिंह नौ सेना में हैं। मनीष के छोटे भाई अनीश सिंह ने बताया कि मनीष भैया मंगलवार को अबुधाबी में हैं। उनसे हम लोगों ने कुशलक्षेम जानने के लिए बात की थी। उन्होंने बताया कि दो भाई और दो बहन में सबसे बड़े मनीष का राफेल को भारत लाने वाले दल में चयन होने से परिवार में खुशी की लहर है। मनीष के पिता मदन सिंह को अपने बेटे पर गर्व है। गांव के समाजसेवी संतोष सिंह ने कहा कि जैसे ही इसकी जानकारी हुई पूरे गांव के लोग उत्साहित हो गए। 

वहीं, संडीला (हरदोई) के विंग कमांडर अभिषेक त्रिपाठी के माता-पिता जयपुर में रहते हैं। लेकिन उनके चाचा समेत परिवार के कई लोग आज भी संडीला के बरौनी मोहल्ला में रहते हैं। अभिषेक के चाचा सरोज त्रिपाठी व चचेरे भाई अनुराग ने बताया कि अभिषेक ने लगभग 15 वर्ष पहले एयरफोर्स ज्वाइन की थी। परिवार के बेटे की इस उपलब्धि पर संडीला में जश्न का माहौल है। चाचा और भतीजे ने भी फोन से अभिषेक के पिता को बधाई दी। उनका कहना है कि अभिषेक कई सालों से संडीला नहीं आए, लेकिन उनके माता-पिता पारिवारिक शादी समारोह व अन्य कार्यक्रमों में अक्सर आते रहते हैं।

मनीष सिंह 2003 में वायुसेना में भर्ती हुए थे
अनीश सिंह ने बताया कि सैनिक स्कूल कुंजपुरा (हरियाणा) के छात्र रहे मनीष सिंह का चयन वायुसेना में एनडीए के जरिये हुआ था। वह 2003 में बतौर फ्लाइट लेफ्टिनेंट वायुसेना में भर्ती हुए थे। फिलहाल मनीष विंग कमाण्डर हैं। इससे पहले वह गोरखपुर में तैनात थे। उन्हें राफेल उड़ाने का प्रशिक्षण लेने के फ्रांस भेजा गया था। 

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

Back to top button