भाई के शहीद होने की खबर सुन पिता से लिपट गई बहन, बोले- अब कैसे होंगी शादियां

रोहतास.जम्मू के बांदीपोरा के हाजीन इलाके में शनिवार को सुरक्षा बलों ने लश्कर-ए-तैयबा के 6 आतंकियों को मार गिराया। मुठभेड़ के दौरान बिहार के रोहतास जिले के रहने वाले गरूड़ कमांडो ज्योति प्रकाश शहीद हो गए। पत्नी का रो रोकर बुरा हाल है। मां को रोते देख चार साल की बेटी ने पूछा कि पापा कब आएंगे। इस दौरान सब की आंखें नम हो गई। घर पर सूचना मिलने के बाद कोहराम मच गया है। तीन बहनों की शादी की थी जिम्मेवारी…भाई के शहीद होने की खबर सुन पिता से लिपट गई बहन, बोले- अब कैसे होंगी शादियां

– शहीद होने की सूचना के बाद ज्योति के काराकाट थाना क्षेत्र के बदलाडीह गांव स्थिति घर में परिजनों का रो- रोकर बुरा हाल है। ज्योति पांच भाई बहनों में ज्योति प्रकाश सबसे बड़े थे और उनके बाद चार बहनें थी। एक बहन की शादी हो चुकी थी और तीन बहनों की अभी शादी होनी बाकी थी। ज्योति की एक चार साल की बेटी जिज्ञासा है। ज्योति की कमाई से ही परिवार का खर्चा चलता था। शहीद जवान की शादी 2010 में रोहतास जिला के सूर्यपुरा थाना क्षेत्र के बारुण गांव में हुई थी। ज्योति की ज्वाइनिंग सितंबर 2005 में हुई थी। वर्तमान में ये कारपोरल रैंक के गरुण कमांडो के पद पर कार्यरत थे।

ये भी पढ़ें: हिंदुजा बोले- ब्रिटेन के भारतीय भारत के लिए प्रतिबद्ध हैं

सब कुछ मेरा बेटा ही था

– शहीद के पिता तेज नारायण सिंह ने कहा कि शहादत पर सरकार पीठ थपथपा रही है। सरकार का सेना पर कोई ध्यान नहीं है। मुझे गर्व है कि मेरे बेटा देश के लिए शहीद हुआ है। अब तो मेरा सब कुछ छिन गया है। मेरा एक ही बेटा था। चार बेटियां है। तीन लड़की की शादी करनी है, अब कैसे करेंगे।

Facebook Comments

You may also like

सरेंडर करने पहुंचे अमानतुल्लाह ने पहने थे ऐसे कपड़े सोशल मीडिया पर हो गए ट्रोल

दिल्ली में मुख्य सचिव और सरकार के बीच