दुनिया में छिपा भगवान् भोलेनाथ और हनुमान जी एक ऐसा रहस्य, जिसे जान कर हैरान हो जाओगे !

दोस्तों आज हम आपको बताये हनुमान जी और भगवन शिव के रहसये के बारे में! ऐसा रहस्य जो शायद बहुत ही कम लोग जानते है! ये बात तो हर कोई जनता ही होगा भगवन शिव के अवतारों में से एक हनुमान जी का अवतार भी है! चलिए ये बात तो आप सब लोगो ने सुन ही रखी होगी! लकिन हम आपको बताये आखिर हनुमान जी का अवतार लेने के पीछे वजह क्या थी! एक ऐसा राज जो आज हम आप लोगो के सामने खोलने जा रहे है! तो आइये जान लेते है इस रहसयमयी अवतार के बारे में?

हम आपको बताते है ये किस्सा रामायण से शुरू से हुआ! रामायण में आपने राम जन्म के बारे में सुना होगा! जब राम जी का जन्म हुआ था! उस समय के पश्चात् भगवन भोलेनाथ का मन किया कि धरती पर जाये और रामजी के दर्शन किये जाये! ये वाकया उस समय का है जब भगवन श्री राम मात्रा पांच वर्ष के थे! तो जैसा कि हमने आपको बताया भगवान् शिव की मिलने की इच्छा जागरूक हुई! परन्तु शिवजी अपने असली रूप में पृथ्वी पर नहीं जा सकते थे! ये एक बड़ी समस्या थी!

इसी बिच भगवन भोलेनाथ ने अपनी धर्मपत्नी में पृथिवी लोक जाना चाहता हु और श्री राम जी के सेवा करना चाहता हु! ऐसे माता पार्वती ने कहाँ आप मुझे यहाँ छोड़कर पृथ्वीलोक चले गए तो मेरा क्या होगा! ऐसे में भगवान् शिव दुविधा में आ गए! क्युकी उनका मन राम जी के पास जाने का था और दूसरी और वे माता को अकेला भी नहीं छोड़ सकते थे!

जाते-जाते गणपति बप्पा की आज इन राशिफल वालाें पर हाेगी अटूट कृपा, होगा लाभ ही लाभ

ऐसे नीलकंठ धारी भगवान् शिव ने एक उपाय निकाला! उन्होंने अपने ग्यारह रुद्राक्षो में से एक अवतार वानर के रूप में धरण किया जोकि हनुमान जी के नाम से जाना जाता है! तो अब उस रहस्य में पर्दा उठाते है! भगवान् भोले बाबा को ये ज्ञात था कि आने वाले समय में न तो श्री राम जी को रहना है न उन्हें! इसलिए हनुमान जी को अमरता का वरदान देकर मानवता के कल्याण की खातिर उनका जन्म हुआ था!

उनकी इसी अमरता के कारण जो कोई भी हनुमान जी को खुश करने में सफल होता है! उसकी साड़ी इछाये पूरी हो जाती है! कहा जाता है भगवान् हनुमान जी आज भी धरती पर विरजमान है! समय समय पर ऐसे कई साबुत मिले है जिनसे कह सकते है हनुमान जी आज भी है और हमेसा रहेंगे!

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *