बॉर्डर पर तनाव के बावजूद कराची जाकर ये कारनामा करेगे भारतीय सर्जन

भारत और पाकिस्तान के बीच बॉर्डर पर भले ही कितनी भी दिक्कतें चल रही हों लेकिन इसके बावजूद कुछ बातें ऐसी होती हैं जहां इंसानियत सबसे पहले होती है. जाने माने भारतीय सर्जन प्रोफेसर सुभाष गुप्ता अपनी टीम के साथ करीब चार लिवर ट्रांसप्लांट करने के लिए कराची जाएंगे. ये ट्रांसप्लांट डॉउ यूनिवर्सिटी ऑफ हेल्थ साइंस (DUHS) में की जाएगी.

शनिवार को एक कॉन्फ्रेंस के दौरान DUHS के वाइस चांसलर प्रोफेसर सईद कुरैशी ने बताया कि डॉ. गुप्ता इसी माह तीन से चार लीवर ट्रांसप्लांट करने के लिए कराची पहुंचेंगे. इस कॉन्फ्रेंस में पाकिस्तान के कई बड़े सर्जन एवं डॉक्टर मौजूद रहे थे.

यह पहली बार नहीं है कि सुभाष गुप्ता पाकिस्तान में आ रहे हों, इससे पहले भी पिछले साल दिसंबर में उन्होंने लिवर ट्रांसप्लांट किया था. उनके साथ उनकी टीम भी आएगी, डॉ. गुप्ता पाकिस्तानी टीम को भी लिवर ट्रांसप्लांट के गुर भी सिखा सकते हैं.

बड़ी खबर: पाकिस्तान के पूर्व प्रधानमंत्री नवाज शरीफ पर छात्र ने फेंका जूता

डॉ. कुरैशी के मुताबिक, उनके यहां ऐसे कई केस आते हैं जिन्हें या तो इस्लामाबाद भेज दिया जाता है या फिर विदेश. जिसके कारण मरीज़ों को काफी दिक्कतें आती हैं, यहीं कारण है कि हम डॉ. गुप्ता को बुला रहे हैं.

उन्होंने कहा कि हम कोशिश करेंगे कि उनसे हमारी टीम कुछ सीख पाए ताकि भविष्य में ये दिक्कत ना पैदा हो. आपको बता दें कि डॉ. सुभाष गुप्ता मैक्स हॉस्पिटल के हेड लिवर ट्रांसप्लांट सर्जन हैं.

You may also like

चीन का कर्ज बढ़कर 2,580 अरब डॉलर हुआ

चीन का बढ़ता कर्ज अब 2,580 अरब डॉलर