बी.सी.सी.आई. द्वारा लगाए प्रतिबंध को नहीं मानेंगे श्रीसंत, मैच खेलने की तैयारी

आईपीएल में मैच फिक्सिंग के आरोप में प्रतिबंध झेल रहे टीम इंडिया के पूर्व फास्ट बोलर एस श्रीसंत अब बीसीसीआई द्वारा लगाए गए इस प्रतिबंध को और नहीं मानेंगे। श्रीसंत ने स्कॉटलैंड में घरेलू क्रिकेट खेलने के लिए एनओसी मांगी थी। उन्होंने पिछले महीने इस संबंध में बोर्ड को पत्र लिखा था, जिसके जवाब में बीसीसीआई ने उन्हें एनओसी देने से इनकार कर दिया। अपने जवाब में बोर्ड ने श्रीसंत को बताया कि उन्हें देश के अंदर या बाहर किसी भी तरह की क्रिकेट ऐक्टिविटी में भाग लेने की अनुमति नहीं मिल सकती।

आईपीएल में मैच फिक्सिंग के आरोप में प्रतिबंध झेल रहे टीम इंडिया के पूर्व फास्ट बोलर एस श्रीसंत अब बीसीसीआई द्वारा लगाए गए इस प्रतिबंध को और नहीं मानेंगे।बोर्ड के इस जवाब से नाराज श्रीसंत ने एर्नाकुलम क्रिकेट क्लब की ओर से दो दिवसीय फर्स्ट डिविजन मैच खेलने का निर्णय लिया है। अंग्रेजी अखबार हिंदुस्तान टाइम्स की खबर के मुताबिक इस 34 वर्षीय खिलाड़ी ने कहा, ‘बीसीसीआई द्वारा मेरे ऊपर लगाए गए आजीवन प्रतिबंध संबंधी कोई आधिरारिक पत्र जारी नहीं किया गया, तो अंपायर क्यों मना कर रहे हैं? मैं जब तिहाड़ जेल में बंद था, तो बीसीसीआई की ओर से सिर्फ सस्पेंशन लेटर मुझे भेजा गया था, जिसकी वैद्यता सिर्फ 90 दिनों की होती है। बोर्ड ने मेरे ऊपर आजीवन प्रतिबंध के बारे में सिर्फ मीडिया से बात की है। मुझे आज तक इसका कोई आधिकारिक पत्र नहीं मिला है।’

उन्होंने कहा, ‘मैं मूर्ख् हूं, जो इतने दिन से क्रिकेट नहीं खेल रहा था। मेरे साथ जो व्यवहार किया गया वैसा किसी आतंकवादी के भी साथ नहीं किया जाता।’ बता दें क्रिकेट की दुनिया में अहम मुकाम बना चुके श्रीसंत 2013 में आईपीएल के छठे संस्करण में स्पॉट फिक्सिंग के आरोप में फंस गए। इससे उनका क्रिकेट करियर तहस-नहस हो गया। हालांकि श्रीसंत को दिल्ली की एक अदालत ने इस मामले में बरी कर दिया था, लेकिन बोर्ड ने उन पर लगाया आजीवन प्रतिबंध कायम रखा। बोर्ड के इस रुख की श्रीसंत ने कड़ी निंदा की है। उन्होंने कहा कि कोर्ट ने मुझे दोषी करार नहीं दिया है उसके बावजूद बोर्ड मेरे साथ खराब व्यवहार कर रहा है।

श्रीसंत ने बताया कि मेरे वकील दस्तावेज तैयार करने में जुटे हैं, ताकि मैदान पर मेरे खेलने को लेकर कोई विवाद न रहे। उन्होंने कहा कि अगर वह 19 फरवरी को खेलते हैं, तो इसके बाद वह सीधा स्कॉटलैंड के लिए रवाना हो जाएंगे। इस तेज गेंदबाज ने कहा कि अब 4 से 5 साल का ही उनका क्रिकेट करियर बचा है, जिसका वह पूरी तरह लुत्फ लेना चाहते हैं। उल्लेखनीय है कि श्रीसंत ने जिस क्लब से दोबारा अपने क्रिकेटिंग करियर को शुरू करने की बात कही है उस पर बीसीसीआई के एक अधिकारी ने कहा है कि अगर उस क्लब ने श्रीसंत को खिलाया तो बोर्ड उस पर भी प्रतिबंध लगा सकता है।

News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button