बीजेपी सरकार ने मचाया हाहाकार : नरेश उत्तम पटेल

शामली. समाजवादी पार्टी के प्रदेश अध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने कहा है कि भाजपा सरकार में आज देश महंगाई के दौर से गुजर रहा है. जिससे लोगों में हाहाकार मचा हुआ है. युवकों को रोजगार नहीं मिल रहा है, पेट्रोल के दाम लगातार आसमान छू रहे हैं, और देश के प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी विदेश यात्राओं में व्यस्त हैं.

उन्होंने कहा कि भाजपा सरकार में व्यापारी, दलित, पिछड़े, मजदूर, गरीबों का उत्पीड़न हो रहा है. देश में लोकतंत्र को खतरा होने के कारण ही सभी पार्टियां को एक होना पड़ा.

सपा प्रदेशाध्यक्ष नरेश उत्तम पटेल ने बुधवार को सपा कार्यालय पर आयोजित प्रेसवार्ता में यह बात कही. उन्होंने कहा कि केन्द्र की भाजपा सरकार को चार साल होने वाले हैं. इन चार सालों में केन्द्र सरकार ने अपना कोई भी वादा पूरा नहीं किया, बल्कि लोगों को महंगाई की आग में झोंक दिया. आज हर चीज इतनी महंगी हो गयी है लेकिन गरीब तो क्या मध्यमवर्गीय परिवार भी बेहाल हो गया है.

इस सरकार में अमीर और ज्यादा अमीर और गरीब और ज्यादा गरीब हो गया है. पेट्रोल की कीमतें आसमान छू रही हैं. पूरा देश महंगाई से बेहाल है, और प्रधानमंत्री विदेश यात्रा में व्यस्त हैं. देश की जनता का भी अब धीरे-धीरे भाजपा सरकार से मोहभंग हो रहा है. भाजपा नेता सिर्फ समाज में नफरत फैलाने का काम कर रहे हैं. भाजपा सरकार ने देश की जनता को हर तरह से मायूस किया है. न युवाओं को रोजगार मिल रहा है, किसानों को उनकी फसलों का पूरा दाम भी नहीं मिल रहा है, पूंजीवादी ताकतों को बढावा दिया जा रहा है.

उन्होंने कहा कि प्रधानमंत्री ने देश के युवा वर्ग को प्रतिवर्ष दो करोड़ रोजगार देने का वादा किया था, लेकिन आज तक एक भी युवक को रोजगार नहीं मिल सका. व्यापारी वर्ग जीएसटी की मार झेल रहा है. जिससे छोटे व्यापारी बर्बादी के कगार पर पहुंच गए हैं. भाजपा सरकार में गरीब बच्चे को भी बेहतर शिक्षा नहीं मिल पा रही है, क्योंकि सरकार ने शिक्षण संस्थाओं को पूंजीपतियों के हाथों में सौंप दिया है. उन्होंने कहा कि देश का लोकतंत्र भी खतरे में है इसी कारण सभी पार्टियों को एक होकर महागठबंधन बनाना पडा.

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

सुप्रीम कोर्ट: मोबाइल-बैंक खातों से आधार जोड़ना गलत, सरकार ने नहीं की तैयारी

आधार कार्ड की अनिवार्यता को लेकर सुप्रीम कोर्ट के पांच