बिहार मानसून अपडेट : पटना में पुनपुन लाल निशान के पार, कोसी व बागमती में उफान

- in बिहार, राज्य
  • पटना.नेपाल, झारखंड और बिहार के विभिन्न हिस्सों में लगातार हो रही बारिश के बाद राज्य की नदियों के जलस्तर में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। कोसी में इस साल का सर्वाधिक जलस्राव हुआ है। उसने वराह क्षेत्र में न केवल इस साल का नया रिकाॅर्ड बनाया, बल्कि पिछले साल के रिकाॅर्ड को तोड़ भी दिया। उसके जलस्तर में अब भी बढ़ोतरी जारी है। उधर, गंगा रोजाना 10 सेंटीमीटर ऊपर बह रही है।
    बिहार मानसून अपडेट : पटना में पुनपुन लाल निशान के पार, कोसी व बागमती में उफान
    गुरुवार की रात से ही नदियों के लाल निशान के ऊपर जाने का सिलसिला शुरू हो गया था। तब चार बड़ी नदियां खतरे के निशान से ऊपर थीं, लेकिन शुक्रवार तक यह संख्या सात हो गई। इस समय कोसी, गंडक, बागमती, कमला बलान, ललबकिया, पुनपुन और महानंदा खतरे के निशान से ऊपर बह रही हैं। कई स्थानों पर इनके जलस्तर में बढ़ोतरी हो रही है। कोसी सुपौल में खतरे के निशान से 10 सेंटीमीटर, गंडक गोपालगंज के डुमरियाघाट पर 10 सेमी, बागमती सीतामढ़ी में 71 सेमी, कमला बलान मधुबनी में 65 सेमी, ललबकिया पूर्वी चंपारण में 30 सेमी, पुनपुन पटना में 77 सेमी व संपतचक में 22 सेमी, महानंदा पूर्णिया में खतरे के निशान से 60 सेमी ऊपर बह रही थी। कोसी इस साल के अपने उच्चतर स्तर पर है। वराह क्षेत्र में उसका जलस्राव 2.16 लाख क्यूसेक था। यह न सिर्फ इस साल का सर्वोच्च स्तर है, बल्कि पिछले साल से भी ऊपर है। पिछले साल 26 जुलाई को यहां पर 2.14 लाख क्यूसेक जलस्राव था। इसी तरह वीरपुर में उसमें इस साल का रिकाॅर्ड 2.63 लाख क्यूसेक पानी था। पिछले साल यहां 2.98 लाख क्यूसेक का रिकाॅर्ड जलस्राव हुआ था।

    ये भी पढ़े: गोरखपुर अस्पताल का यह वीडियो वायरल होते ही खुल गई योगी सरकार की पोल, मच गया हडकंप!

    24 घंटे में इन क्षेत्रों में हुई भारी बारिश
    – दरौली : 56 एमएम 
    – वाल्मीकिनगर : 136 एमएम 
    – लालगंज : 76 एमएम 
    – बेनीबाद : 50 एमएम 
    – कमतौल : 75 एमएम 
    – सौलीघाट : 62 एमएम 
    – झंझारपुर : 91 एमएम 
    – वीरपुर : 71 एमएम 
    – कुरसेला : 75 एमएम 
    – तयवरपुर : 159 एमएम 
    – ढेंगराघाट : 50 एमएम 
    – अररिया : 52 एमएम 
    – गलगलिया : 141 एमएम
     
    बागमती लाल निशान से ऊपर, बकुची में डायवर्सन पर चढ़ा पानी
    नेपाल में अच्छी बारिश के कारण उत्तर बिहार से गुजरने वाली बागमती, गंडक, बूढ़ी गंडक, कोसी, कमला व करेह नदियों के जलस्तर में तेजी से बढ़ोतरी हो रही है। बागमती नदी का जलस्तर ढेंग से लेकर कटौझा तक खतरे के निशान से 72 सेंटीमीटर ऊपर है। बेनीबाद में इसके जलस्तर में 24 घंटे में 60 सेंटीमीटर की वृद्धि होने की संभावना है। कटरा के बकुची पहसौल सड़क स्थित डायवर्सन पर तीन से चार फीट तक पानी चढ़ गया है। इससे नाव के सहारे लोग हैं।
     
    उत्तर बिहार में शिफ्ट हुआ ट्रफ, पटना में आज सुबह बारिश के आसार
    दक्षिण पश्चिम मानसून बिहार के ऊपर मजबूती से सक्रिय है। हालांकि हिमालय से उत्तरी बिहार होते हुए असम तक बने ट्रफ लाइन के कारण बिहार के मध्य और दक्षिणी इलाकों में बारिश कमजोर पड़ गई है। ट्रफ लाइन अब बिहार के उत्तरी हिस्से में शिफ्ट कर गया है। इस कारण शनिवार को सुबह से ही दरभंगा, पूर्वी चंपारण, सीतामढ़ी, सुपौल और मुजफ्फरपुर में भारी बारिश की संभावना है। वहीं पटना में सुबह 10 बजे के बाद से शाम तक दो स्पेल में बारिश होगी।
     
    मौसम विज्ञान केंद्र के उपनिदेशक आनंद शंकर ने बताया कि कि शुक्रवार को बिहार के उत्तर और पूर्वी इलाकों में अच्छी बारिश हुई। सुबह से सिस्टम कमजोर हो जाने के कारण मध्य और दक्षिणी इलाकों में हल्की बारिश रिकॉर्ड की गई है। राजधानी सहित प्रदेशभर में तापमान सामान्य से पांच डिग्री तक नीचे गिरा है। पटना का अधिकतम तापमान सामान्य से पांच डिग्री नीचे 28.2 डिग्री सेल्सियस पर पहुंच गया है। गया 29, भागलपुर 29.6 और पूर्णिया 30 डिग्री पर पहुंच चुका है। प्रदेशभर में हो रही बारिश और चल रही दक्षिणी-पश्चिमी हवाओं के कारण आर्द्रता 95 फीसदी पर बनी हुई है। पूरे दिन बादल छाए होने के कारण गर्मी से राहत मिल रही है।
     
    24 घंटे में कहां कितनी बारिश हुई
     
    स्थान बारिश (मिमी)
    किशनगंज 160
    गलगलिया 140
    दरभंगा 90
    झंझारपुर 90
    सुपौल 90
    बेगूसराय 70
     
    बिहार में बारिश का 99 फीसदी कोटा पूरा
    बिहार में एक जून के बाद अबतक 99 फीसदी बारिश हो गई है। अगले तीन दिनों तक दक्षिण-पश्चिम मानसून के सक्रिय रहने के आसार है। ऐसे में पानी की किल्लत पूरी तरह खत्म हो जाएगी। हालांकि, प्रदेश के पांच जिले अब भी एेसे हैं, जहां औसत से कम बारिश हुई है। वहीं पांच जिलों में 55 फीसदी तक अधिक बारिश रिकॉर्ड की गई है। मौसम विभाग के आंकड़ों की मानें तो बिहार में मानसून के दौरान अबतक 612.9 मिमी बारिश होती है। जो 608.5 मिमी तक हो चुकी है। पटना में सामान्य से 15 फीसदी कम बारिश हुई है।
     
    यहां अब भी सूखे जैसे हालात
     
    जिला कम बारिश
    सिवान 30 फीसदी
    भोजपुर 30 फीसदी
    मुंगेर 26 फीसदी
    अररिया 21 फीसदी
    सीतामढ़ी 22 फीसदी
    यहां औसत से अधिक बारिश हुई
     
    बक्सर 24 फीसदी
    रोहतास 55 फीसदी
    औरंगाबाद 29 फीसदी
    दरभंगा 25 फीसदी
    समस्तीपुर 24 फीसदी
     
     
loading...
=>

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *

You may also like

शरद ने इन नेताओं के साथ नीतीश के खिलाफ खोल मोर्चा, जिनके पैरों तले खिसक चुके है जमीन

महागठबंधन टूटने के बाद जेडीयू के पूर्व अध्यक्ष