बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हैदराबांद कांड पर दिया ये बड़ा बयान…

बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार ने हैदराबाद की घटना के बाद बिहार के बक्सर और समस्तीपुर में युवतियों को जलाकर मार डालने की घटना पर पहली बार अपनी प्रतिक्रिया दी। मुख्यमंत्री ने कहा कि सोशल मीडिया इस तरह की घटनाओं के लिए एक हद तक जिम्मेदार है। सोशल मीडिया का दुरुपयोग सही नहीं है। पोर्न साइट गलत काम करता है, इससे मानसिकता बिगड़ती है।

Loading...

मुख्यमंत्री ने कहा कि बिहार भी पोर्न साइट पर रोक लगाने के लिए केंद्र सरकार को पत्र लिखेगा, और जल्द ही बिहार में पोर्न साइट को बंद किया जाएगा। यह बातें मुख्यमंत्री ने जल जीवन हरियाली यात्रा अभियान के चौथे पड़ाव के तहत गोपालगंज में आयोजित जागरूकता कार्यक्रम को संबोधित करते हुए कही।

उन्होंने कहा कि 2005 में मैंने न्याय यात्रा के दौरान ही ये तय किया था कि न्याय के साथ विकास का काम चलेगा।फिर वो किसी भी वर्ग के उत्थान की बात ही क्यों ना हो? हमने सबको मुख्य धारा से जोड़ा, हर क्षेत्र में काम किया।

बिहार में उत्पादकता बढ़ी, विकास का काम हुआ, जब मौका मिला। हम जिस समय आए उस समय बिहार का बजट 25 लाख था आज यह काफी बढ़ गया है। मैंने जो काम शुरू किया, उसको जारी रखा है, कोई काम छोड़ा नहीं है। हमने लड़कियों के लिए काम किया, प्राथमिक विद्यायल के बाद लड़कियां स्कूल नहीं जाती थीं, लेकिन अब देखिए, माता-पिता ये कहते हैं कि लड़कियों को 8वीं तक ही क्यों पढ़ाये? इसके लिए राज्य के सभी स्कूलों में मैट्रिक तक पढ़ाई की व्यवस्था सुनिश्चित की।

बिहार में कोई सोचता नहीं था कि लड़की साइकिल भी चलाएगी, इतनी संख्या में स्कूल भी जाएंगी। उस वक्त कहीं भी लड़कियां साइकिल चलाती नहीं दिखती थीं, लेकिन हमने साइकिल योजना से उनका उत्साह बढ़ाया। आज देखिये लड़कियां हर गांव में साइकिल चलाती स्कूल जाती दिख जाएंगीं।

हमने शराबबंदी को लागू किया। आज मजदूर-गरीब तबके के लोग शराब नहीं, दूध सब्जी लेकर घर आते हैं। घरों में खुशहाली आई है। आज हमारे सामने दहेज और बाल विवाह की चुनौतियां हैं। हमने जीविका दीदियों से अनुरोध किया है कि लोगों को दहेज और बाल विवाह के खिलाफ जागरूक करें। उन्हें समझाएं कि ये सामाजिक बुराई है।

नीतीश ने कहा कि हम जीवन के लिए जो भी जरूरी है, सब काम करते हैं। राज्य में हर घर नल का जल पर काम चल रहा है, अगले वर्ष अप्रैल तक इसे पूरा करना है। इसके साथ ही हर घर में शौचालय बन जाना चाहिए।

पुरुषों की आदत है खुले में शौच करने की, उसे बदलिए, बाहर जाएंगे यह सही नहीं, बदल दीजिये इस आदत को,।

मौसम में बदलाव हुआ, वर्षापात बिहार में 1200मिलीमीटर था, अब 1 हजार मिलीमीटर पहुंच गया। इस साल भी बुरा हाल हुआ, जुलाई में सुखाड़, सितम्बर में बाढ़, यह सब जलवायु परिवर्तन का नतीजा है।

इसके बाद हमने यह निर्णय लिया है कि जल और जलवायु है तो जीवन सुरक्षित है, इसके लिए अभियान चला रहे हैं।

नीतीश कुमार ने जल जीवन हरियाली के जागरूकता सम्मेलन में आने के लिए सभी को धन्यवाद दिया और कार्यक्रम में शामिल सभी अधिकारियों ने जल जीवन हरियाली के बारे में लोगों को अवगत कराया।

loading...
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *