बलरामपुर : परसौना में बाढ़ एवं कटान से किए जा रहे बचाव व राहत कार्य

बलरामपुर। बाढ़ के मद्देनजर प्रशासन अलर्ट पर है। शनिवार को कोई भी गांव बाढ़ से प्रभावित नहीं था। करीब आधा दर्जन से अधिक ग्रामों में राप्ती नदी कटान कर रही है। सभी स्थानों पर बाढ़ खण्ड द्वारा कटानरोधी कार्य किए जा रहे हैं। राप्ती नदी के दाएं तट पर स्थित परसौना में हो रही कटान को नियंत्रित करने के लिए फ्लड फाइटिंग का कार्य किया जा रहा है। राप्ती नदी के बायें किनारे भोजपुर- शाहपुर तटबंध के ग्राम जेनुका में हो रही कटान स्थल पर फ्लड फाइटिंग कार्य किया जा रहा है। जिसका निरीक्षण बाढ़ खण्ड के अधिशासी अभियंता ने शनिवार को किया।

ग्राम कल्यानपुर के दांये तट पर हो रहे कटान को रोकने हेतु कटान निरोधक कार्य जारी है। ग्राम ढोंढरी के दायें तट पर हो रहे कटान को रोकने हेतु फ्लड फाईटिंग का कार्य किया जा रहा है। करमहना भोजपुर तटबंध के नौबस्ता व रजवापुर ग्राम में हो रही कटान को नियंत्रित करने के लिए कटानरोधी कार्य किए जा रहे हैं। ग्राम महरी में भी कटानरोधी कार्य करके नुकसान होने से बचाने का प्रयास जारी है। बाढ़ एवं कटान प्रभावित क्षेत्रों में 573 पशुओं का उपचार किया जा चुका है जबकि प्रतिदिन टीकाकरण का कार्य किया जा रहा है।

अब तक कुल 7091 पशुओं का टीकाकरण किया जा चुका है। राप्ती का जल स्तर बढ़ रहा है। शनिवार को सुबह आठ बजे राप्ती का जल स्तर 103.940 दर्ज किया गया है। जो चेतावनी बिंदु से उपर है। जिलाधिकारी ने सभी उपजिलाधिकारियों को राप्ती के जल स्तर पर नजर बनाए रखने के निर्देश दिए है। जिलाधिकारी कृष्णा करूणेश ने कहा कि यदि जल स्तर बढ़ता है और डिपों पर पानी आने से आवागमन प्रभावित होता है तो तुरंत डिपो पर नाव चलवाई जाएगी जो राहगीरों को एक पार से दूसरे पार ले जाएगी। यह सेवा निशुल्क होगी। जिले में 60 नाव अयोध्या से मंगाई गई है। जिसका इस्तेमाल आवश्यकतानुसार किया जाएगा। जिले में 31 बाढ़ चैकी तथा 31 राहत केन्द्रों की स्थापना की गई है। आवश्यकता पड़ने पर यह सक्रिय हो जाएंगे।

Ujjawal Prabhat Android App Download Link
News-Portal-Designing-Service-in-Lucknow-Allahabad-Kanpur-Ayodhya
Back to top button