बटुक भैरव देवालय में भादों का मेला 23 सितम्बर को

 अभिषेक के बाद होगा दर्शन का सिलसिला, नए कलाकार आज धारण करेंगे घुंघरू

लखनऊ। पिछले सालों की तरह इस बार भी भादों के अंतिम इतवार 23 सितम्बर को बटुक भैरव देवालय में वार्षिक मेला 23सितम्बर को होगा जिसमें हजारां बाबा के भक्त उनके दर्शन करेंगे। इस अवसर पर मेला भी लगेेगा। कैसरबाग के गोला गंज में पुरानी सिद्ध पीठ बटुक भैरव देवालय में सुबह ब्रह्म मुहुर्त में बाबा का अभिषेक होगा। बटुक भैरव का गंगा जल , पानी , शहद, शर्करा, दूध, दही से अभिषेक होगा। उसके बाद उनकी विशेष आरती की जाएगी और उनको मिठाई से लेकर अन्य खाद्य पदार्थो का भोग लगेंगा। सुबह आरती के बाद भक्तेां के लिए दर्शन का क्रम प्रारम्भ हो जाएगा जो रात बाहर बजे तक होते रहेंगे।

बटुक भैरव पंडित बिंदादीन महाराज के कुल देवता रहे हैं। लखनऊ के कथक कलाकार अपना पहला कार्यक्रम मंदिर में करते हैं। यहां नए कलाकारों को उनकी गुरू कथक बाबा के दरबार में प्रदान करते हैं। यह सुरों के देवता भी हैं। इसलिए कथक कलाकार उनकी पूजा अर्चना करते रहते हैं। भादों का मेला मुगल काल से होता रहा है। वही मेला परम्परागत तरीके से चल रहा है। इस साल भी 22 को अखंड रामायण प्रारम्भ हुई जो जो 23 को दोपहर में खत्म होगी उसके बाद बाबा का भोग लगेेगा और फिर से भंडारा प्रारम्भ होगा। बटुक भैरव मंदिर में ं बच्चों के लिए झूले लगेंगे। मेले में कथक नृत्यांगना कुमकुम आदर्श अपनी शिष्याओं को बाबा के दरबार में घुंघरू प्रदान करेंगी। मेले में हजारों भक्त भाग लेंगे।

Loading...

Leave a Reply

Your email address will not be published. Required fields are marked *